कोरोना की जंग हार गए वरिष्ठ कांग्रेस नेता अहमद पटेल, निधन, राजनीतिक जगत में शोक की लहर

कांग्रेस नेता अहमद पटेल का बुधवार तड़के निधन हो गया । यह जानकारी उनके बेटे फैसल पटेल ने दी । गौरतलब है कि 71 वर्षीय अहमद पटेल को तबियत बिगड़ने के बाद पिछले दिनों गुरुग्राम स्थित मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था । पटेल अक्टूबर के पहले सप्ताह में कोरोना वायरस से संक्रमित हुए थे ।

अहदम पटेल के बेटे फैसल ने कहा कि गुजरात के राज्यसभा सांसद का आज तड़के 3.30 बजे निधन हो गया । उन्होंने लिखा, ‘बड़े दुःख के साथ सूचित कर रहा हूं कि मेरे पिता श्री अहमद पटेल का असामयिक निधन हो गया । एक महीने पहले कोरोना संक्रमित पाए जाने बाद उनका स्वास्थ्य मल्टीपल आर्गन फेलियर के कारण और भी खराब हो गया । अल्लाह जन्नतुल फिरदौस बख्शे.’ पटेल ने अपने सभी शुभचिंतकों से COVID-19 नियमों का पालन करने का अनुरोध किया ।

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के कोषाध्यक्ष अहमद पटेल एक अक्टूबर को कोरोना संक्रमित पाए गए थे और उन्हें 15 नवंबर को गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल की ICU में भर्ती कराया गया था ।1 अक्टूबर को अहमद पटेल ने बताया था कि वह कोरोना संक्रमित पाए गए हैं । उन्होंने अपने संपर्क में आए लोगों से जांच कराने का आग्रह भी किया था ।

आठ बार के सांसद अहमद पटेल ने लोकसभा में तीन और राज्यसभा में पांच कार्यकाल पूरा कर चुके हैं । उन्हें अगस्त 2018 में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (AICC) के कोषाध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया था । अहमद पटेल ने 1976 में गुजरात के भरूच जिले में स्थानीय निकाय चुनाव लड़कर अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत की । बाद में उन्होंने गुजरात और केंद्र दोनों में कांग्रेस के संगठनात्मक ढांचे की कमान संभाली ।

1985 में, उन्हें तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी को संसद सचिव नियुक्त किया गया था ।अहमद पटेल ने सरदार सरोवर परियोजना की देखरेख के लिए नर्मदा प्रबंधन प्राधिकरण की स्थापना में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई ।

उनके निधन पर सोनिया गांधी से लेकर राहुल गांधी, प्रियंका वाड्रा व प्रधानमंत्री ने भी ट्वीट कर दुःख व्यक्त किया है ।

मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने लिखा- अहमद पटेल नहीं रहे । एक अभिन्न मित्र विश्वसनीय साथी चला गया । हम दोनों सन् 77 से साथ रहे । वे लोकसभा में पहुँचे मैं विधान सभा में । हम सभी कॉंग्रेसियों के लिए वे हर राजनैतिक मर्ज़ की दवा थे । मृदुभाषी, व्यवहार कुशल और सदैव मुस्कुराते रहना उनकी पहचान थी ।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!