नशा, रफ्तार, फिटनेस और ओवरलोड वाहन लील रहे लोगों की जान

संजीव कुमार पांडेय (संवाददाता)

राजगढ़ । पुलिस और आरटीओ विभाग की ओर से सड़क हादसे पर लगाम लगाने के लिए तमाम प्रयास किए जा रहे हैं। बावजूद इसके नशा, रफ्तार, फिटनेस और ओवरलोड वाहन हर साल सैंकड़ों लोगों की जिदगी लील रहे हैं। प्रशासनिक अधिकारी अफसोस जताने के अलावा कुछ नहीं कर पा रहे हैं। वे किसी भी हादसे से सीख नहीं ले रहे हैं। जनपद में यातायात नियमों का उल्लंघन करना लोगों की आदत में शामिल हो गया है। कड़ी कार्रवाई न होना भी इसका एक प्रमुख कारण है जिसके चलते जनपद के लोगों के दिल में यातायात नियमों का उल्लंघन करने को लेकर कोई डर नहीं है। सरकारी दफ्तरों में बैठे अधिकारियों की भी लापरवाही कम नहीं है। जनपद में जहां कामर्शियल वाहनों की फिटनेस में भारी खामी है तो नशा, रफ्तार और ओवरलोड वाहनों के कारण कई लोगों की जान जा चुकी है। जनपद के मुख्य मार्ग बदहाल हैं तो ट्रैफिक सिग्नल आज तक चालू ही नहीं हो सके हैं। सड़कों पर गलत तरीके से पार्किंग करने वालों के खिलाफ कार्रवाई न होना भी सड़क हादसों की बड़ी वजह बनकर रह गया है। बावजूद इसके पुलिस और प्रशासन मौन धारण किए हुए हैं।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!