चल रहा यातायात माह, दुर्घटनाओं पर नहीं लग रहा को लगाम, आए दिन हो रहे हैं सड़क हादसे

मनोहर कुमार (संवाददाता)

– सड़क किनारे खड़े ट्रक भी साबित हो रहे जानलेवा

मुगलसराय । लोगों को सुरक्षित यात्रा करने, दुर्घटनाओं से बचाने,ट्रैफिक नियमों का पालन करने के लिए इस समय याता यात माह चलाया जा रहा है।एक से तीस नवम्बर तक चलने वाले यातायात माह में लोगों को ट्रैफिक नियमों का पाठ पढ़ाया जा रहा है। इधर सड़क हादसों में इजाफा हो रहा है। सफर के दौरान असमय ही कितनों ने अपनी जान गवां दी।
यातायात माह के दौरान लोगों को ट्रैफिक रूल्स का पाठ पढ़ाया जाता है।एक नवम्बर को बड़ी तैयारी के साथ यातायत माह का आगाज किया जाता है। इस दौरान विभिन्न जगहों पर प्रभात फेरी,जागरूकता रैली निकाली जाती है।नुक्कड़ नाटकों के जरिए लोगों को नियमों की अनदेखी करने पर होने वाली दुर्घटना से सजग किया जाता है। इस समय सड़क हादसे से तेजी आयी है। कोरोना संक्रमण को रोकने व फैलाव व प्रभाव को कम करने के लिए देश भर में लॉक डाउन किया गया था।इस दौरान सड़क हादसों में काफी कमी हो गई थी।सड़क हादसों को रोकने के लिए सरकार ने काफी कड़े नियम किए हैं जुर्माना की राशि भी बड़ा दी है। इसके बाद भी लोग सड़क पर रफ़्तार को नहीं रोक पा रहे हैं। सड़क के किनारे खड़े भारी वाहन भी दुर्घटना के सबब बन रहे हैं। धान के कटोरे के रूप में ख्यातिलब्ध चंदौली जनपद में ही आए दिन सड़क दुर्घटना हो रही है।इस हादसे मै न जाने कितने असमय ही अपनी जान गवां दे रहे हैं।कितने अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहे तो कितने अपंग हो गए। कितने माओं की कोख उजड़ गई।कितनों इकलौता चिराग बुझ गए। कितनों की मांग उजड़ गई।कितनी की कलाई सुनी हो गई।कहीं परिवार के परिवार मौत के मुंह में चली गई।इसके बाद भी सड़क पर रफ़्तार की प्रतियोगिता कम नहीं हो रही।यातयात माह में दी जा रही शिक्षा को भी लोग आत्मसात नहीं कर रहे।पुलिस चालान काट कर अपनी पूर्ति कर रही है तो परिवहन जांच कर।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!