क्रय केन्द्रों पर तौल न होने पर जिला खाद्य विपणन अधिकारी से स्पष्टीकरण तलब

दीनदयाल शास्त्री (ब्यूरो)

पीलीभीत । जिलाधिकारी पुलकित खरे द्वारा खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 के अन्तर्गत सरकारी धान क्रय केन्द्रों पर धान विक्रय करने वाले पंजीकृत लघु एवं सीमान्त कृषकों की स्थिति की तहसीलवार समीक्षा गई। समीक्षा के दौरान निर्धारित लक्ष्य के अनुरूप केन्द्रों पर तौल न होने के कारण जिला खाद्य विपणन अधिकारी का चतुर्थ स्पष्टीकरण तलब करते हुये लक्ष्य के अनुरूप खरीद करने हेतु निर्देशित किया गया है। जनपद में धान विक्रय करने वाले कुल 52336 पंजीकृत कृषकों के सापेक्ष अबतक मात्र 21767 के द्वारा ही सरकारी क्रय केन्दों पर धान विक्रय किया गया, जबकि अभी 30569 कृषकों का धान सरकारी क्रय केन्द्रों पर विक्रय हेतु अवशेष है। समीक्षा के दौरान संज्ञानित हुआ है कि जनपद की तीनों मण्डियों पर सरकारी क्रय केन्द्रों पर 04 कांटे व मण्डी से बाहर अन्य स्थानों पर 02 कांटे होने के बाबजूद भी प्रतिदिन 4000 से 5000 कुंतल के मध्य हो पा रही है, जबकि पूर्व में लघु एवं सीमान्त किसानों को प्राथमिकता के आधार पर तोल कराये जाने के निर्देश दिये गये थे फिर भी संचालित सरकारी क्रय केन्द्रों पर निर्धारित दैनिक लक्ष्य पूर्ण नही किया जा रहा है तथा न ही निर्धारित लक्ष्य पूर्ण न करने वाले केन्द्र प्रभारी के विरूद्व कोई कार्यवाही नही की जा रही है। यह स्थिति अत्यन्त ही खेदजनक है जो आपके पदेन दायित्वों के प्रति घोर लापरवाही घोतक है।
अतः आपकी उक्त का कार्यशैली शासन के हित में न होने के फलस्वरूप आपको भविष्य के लिए अन्तिम रूप से सचेत करते हुये निर्देशित किया जाता है प्रत्येक दिन केन्द्रवार दैनिक खरीद की समीक्षा करते हुये पंजीकृत लघु एवं सीमान्त कृषकों का शत प्रतिशत धान सरकारी धान क्रय केन्द्रों पर विक्रय कराना सुनिश्चित करेगें। साथ ही यदि सम्बन्धित केन्द्र प्रभारी के द्वारा निर्धारित साप्ताहिक/दैनिक लक्ष्य पूर्ण नहीं किया जाता है तो सम्बन्धित के विरूद्ध विधिक कार्यवाही कराना सुनिश्चित करेगें। साथ ही आप पत्र प्राप्ति की दिनांक 02 दिवस के अन्दर यह अवगत करायेगें कि आज दिनांक 18 नवम्बर 2020 से 15 दिवस पूर्व किन केन्द्र प्रभारियों के द्वारा निर्धारित लक्ष्य पूर्ण नही किया एवं आपके द्वारा किन किन केन्द्र प्रभारियों के विरूद्ध क्या-क्या कार्यवाही की गयी है।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!