मौसम का बिगड़ा मिजाज, सहमे किसान

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । जनपद के मौसम का मिजाज आज अचानक बदल गया। आसमान में काले बादल छा गए और बूंदाबांदी के साथ हल्की हवाएं चलने से मौसम का मिजाज नरम हो गया। इससे खेत और खलिहान में काटकर फसल छोड़ने वाले किसान चिंतित हो गए। खलिहान में जो धान पड़े हैं, उसे समेटकर किसान घरों में रखने लगे। आज दोपहर से आसमान में बादल छाए हुए थे। सुबह थोड़ी देर धूप बिखेरने के बाद सूर्यदेव बादलों की ओट में छिप गए और दोपहर तक लुकाछिपी का खेल चलता रहा। इससे मौसम का मिजाज बिगड़ा गया। वहीं दोपहर 2 बजे के आस पास अचानक हल्की बूंदबांदी शुरू हो गयी और हवाएँ चलने लगी जिससे मौसम में नमी आ गयी। वहीं आम जनजीवन भी व्यस्त हो गया।

जानकार अगले 24 से 48 घंटे के दौरान बारिश होने की संभावना से भी इनकार नहीं कर रहे है। इससे पलेवा का इंतजार कर रहे किसानों ने तो राहत की सांस ली, लेकिन खेत-खलिहान में काटकर छोड़ी गई धान की फसल की चिंता में तमाम किसान परेशान हो उठे।

मझिगाँव के किसानों अविनाश चौबे, उमाकांत चौबे, नन्हें चौबे, बुल्लू, कयर आदि का कहना है कि “अभी अधिकतर फसल खेतों में पड़ी है। ऐसे में अगर बारिश हुई तो समस्या बढ़ जाएगी। साथ ही जिन निचले इलाकों में जलभराव है और वहां की फसल नहीं कट पाई है, उनकी चिंता और बढ़ गई। लगातार पानी से उनकी बची-खुची फसल अब सड़ जाएगी। सुबह से ही अधिकतर गांवों में किसान खलिहान में पड़ी फसल को हटाने में जुटे रहे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!