जिला अस्पताल का बर्न यूनिट सेन्टर बनेगा रैन बसेरा

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । कोविड-19 एल-1 व एल-2 में भर्ती संक्रमित मरीजों की बेहतर देख-भाल की जाय। समय से खाना-पानी व काढ़ा के साथ ही जन स्वास्थ्य सुविधाएं मुश्तैदी के साथ मुहैया करायी जाय। जहां संक्रमित मरीज पाये जा रहे हैं, उसके पास-पास के अधिकाधिक लोगों के ब्लड की जॉच करायी जाय। होम क्वारंटाइन में रह रहे संक्रमित कोरोना मरीजों से वीडियो कालिंग से वार्ता करते हुए डॉक्टरों की टीम भेजकर उनका भी स्वास्थ्य परीक्षण नियमित रूप से कराने के साथ ही जॉच की संख्या बढ़ायी जाय।

उक्त निर्देश जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम ने कोविड अस्पताल एल-1 व एल-2 का जायजा लेने के बाद कोविड अस्पताल परिसर व सम्बन्धित अधिकारियों के सुरक्षा व्यवस्था के साथ ही मुहैया करायी जा रही व्यवस्थाओं की समीक्षा करते हुए दिया। उन्होंने होम आईसोलेशन में रह रहे लोगों के नियमित देखभाल करने के निर्देश देते हुए कहा कि संभावित संक्रमित मरीजों की पहचान में तेजी लायी जाय। ब्लड कलेक्शन की संख्या बढ़ायी जाय। एक्टिव मरीजों को बेहतर सुविधा मुहैया करायी जाय। साफ-सफाई व सेनिटाइजेशन पर विशेष ध्यान दिया जाय। उन्होंने संक्रमित मरीजों का कवरेज टाइम यानी अस्पताल में भर्ती कराने की टाइमिंग बेहतर बनाने को कहा है।

जिलाधिकारी ने कहा कि बढ़ रहे ठण्ड को देखते हुए जिला अस्पताल परिसर में सुविधा युक्त तैयार बर्न यूनिट सेन्टर को रैन बसेरा का रूप दिया जाय, ताकि जिला अस्पताल व 100 बेड के मॉ-बच्चें के हास्पिटल के मरीजों के साथ आने वाले तीमारदारों को रूकने की व्यवस्था बेहतर तरीके से मिले। उन्होंने कहा कि बर्न यूनिट भवन को रैन बसेरा के रूप में क्रियाशील किया जाय और 24 घंटे की ड्यूटी लगायी जाय।

समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम व मुख्य विकास अधिकारी डॉ0 अमित पाल शर्मा, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ0 बी0पी0 गौतम, प्रभारी मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 सलिल श्रीवास्तव, एसीएमओ डॉ0 बी0के0 अग्रवाल, जिला विकास अधिकारी रामबाबू त्रिपाठी, जिला पंचायत राज अधिकारी विशाल सिंह, सहायक निदेशक बचत संतलाल यादव सहित अन्य सम्बन्धितगण मौजूद रहे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!