सफल धावक बनने के लिए कुछ खास गुणों की होती हैं आवश्यकता, जानें

हर धावक की यह कामना होती है कि वह दौड़ में प्रथम स्थान प्राप्त करे। लेकिन चाहने भर से कुछ नहीं होता, बल्कि एक सफल धावक बनने के लिए कुछ खास गुणों की आवश्यकता होती है, जैसा कि उसका मन हमेशा अपने लक्ष्य पर केंद्रित होता है। दूसरा, उसे यह दृढ़ विश्वास होता है कि वह जरूर जीतेगा। तीसरा, वह दूसरों के बारे में नहीं सोचता। चौथा, उसमें लक्ष्य को पाने की तीव्र लगन होती है। इसलिए वह नियमित रूप से शारीरिक व्यायाम करता है, जरूरी पोषण लेता है और सकारात्मक रह कर अपने लक्ष्य पर केंद्रित रह कर मेहनत करता है, और तब जाकर वह अपने लक्ष्य तक पहुंच पाता है।
ठीक ऐसे ही हमें आध्यात्मिक लक्ष्य की प्राप्ति के लिए करना होगा। इन्हीं गुणों को अपनाकर आप अपने आध्यात्मिक लक्ष्य को हासिल कर सकते हैं। यदि हमारा लक्ष्य प्रभु-प्राप्ति है, तो हमें अपने आप से यह पूछना है कि प्रभु-प्राप्ति के लिए हमारी इच्छा कितनी प्रबल है? अधिकांश लोग, जो एक के बाद एक दुनियावी कामों में लगे रहते हैं, उन्होंने अभी अपने मन को इस बात के लिए तैयार नहीं किया है कि वे प्रभु को चाहते हैं अथवा दुनिया को। इसका अर्थ यही है कि हमने अभी तक अपना लक्ष्य निर्धारित नहीं किया है और हम कभी भी बहक सकते हैं। लेकिन एक बार अगर लक्ष्य निर्धारित हो जाए, तो हमें भी धावकों की तरह इन सिद्धान्तों पर अमल करना होगा,जैसे हम हमेशा प्रभु के बारे में सोचें, कार चलाते वक्त, काम करते वक्त, पंक्ति में अपनी बारी का इंतजार करते हुए, खाना पकाते समय अथवा व्यायाम करते हुए। प्रेरणादायक पुस्तकों का अध्ययन करें, जिनसे हम यह जान सकें कि संतों-महात्माओं ने प्रभु को कैसे पाया है। प्रभु तक पहुंचाने वाली कोशिशों में अधिक से अधिक लगें, जैसे ध्यान का अभ्यास, सत्संग, निष्काम सेवा और नैतिक जीवन। हमें खुद पर विश्वास होना चाहिए। इस तरह की मानसिकता के साथ हम ध्यान का अभ्यास करें, रोजाना आत्म-निरीक्षण करें, शाकाहारी भोजन करें, नशीले पदार्थों को त्यागें, निष्काम सेवा करें।
इस तरह हम इसी जीवन में प्रभु को प्राप्त कर सकते हैं। दूसरों की ओर ध्यान न देते हुए हम अपने लक्ष्य की ओर ध्यान लगाएं। यदि हम ईमानदारी से आत्म-निरीक्षण करें, तब हमारे पास दूसरों की ओर देखने का समय ही नहीं रहेगा और हम शीघ्र प्रगति कर सकेंगे। हम दूसरों के प्रति द्वेष में नहीं उलझेंगे और अपनी ही प्रगति की ओर ध्यान देंगे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!