जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में बोले जिलाधिकारी- आशाओं का भुगतान अधूरा रखने वाले प्रभारी चिकित्साधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही प्रस्तुत करें

जनपद न्यूज ब्यूरो

स्वास्थ्य विभाग जन स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर तरीके से आम नागरिकों को मुहैया कराने के साथ ही ओपीडी के बाद क्षेत्रों में जाकर नागरिकों को जागरूक करते हुए भारत व प्रदेश सरकार द्वारा चलायी जा रही स्वास्थ्य सम्बन्धी जन कल्याणकारी योजनाओं से जन मानस को शत-प्रतिशत आच्छादित किया जाय। जिले के सभी परिवार कल्याण केन्द्रों व उप केन्द्रों को क्रियाशील किया जाय। हर केन्द्रों पर एएनएम की तैनाती सुनिश्चित की जाय। प्रसव के बाद भुगतान शत-प्रतिशत किया जाय। आशाओं का भुगतान अधूरा रखने वाले प्रभारी चिकित्साधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही भी प्रस्तुत किया जाय।

उक्त बातें जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट मीटिंग हाल में जिला स्वास्थ्य समिति की शासी निकाय की अध्यक्षता करते हुए कहीं। जिलाधिकारी ने कहा कि जन स्वास्थ्य सेवाएं काफी बेहतर और परोपकारी कार्य है। स्वास्थ्य सम्बन्धी लाभ पहुंचाना आत्म सुख का एहसास कराता है, लिहाजा जिले स्तर से लेकर गांव/मजरे स्तर तक स्वास्थ्य सेवाएं बेहतर तरीके से पहुंचायी जाय। उन्होंने कहा कि जानलेवा बीमारियों से बचाने के लिए टीकाकरण को समयबद्ध तरीके से मूर्त रूप दिया जाय। जिलाधिकारी ने कहा कि जिस समाज के बच्चें पूरी तरीके से तन्दुरूस्त होंगे, यकीनन वह समाज अपना चहुमुंखी विकास करने मेंं सक्षम होगा। बैठक के दौरान उन्होंने कहा कि आशा, एएनएम को गांव स्तर पर अच्छे से अच्छा प्रशिक्षण देकर स्वास्थ्य से जुड़े योजनाओं को बेहतर तरीके से मूर्त रूप देने के लिए तैयार किया जाय। सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र व सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र तथा जिला अस्पताल में सफाई का विशेष ध्यान दिया जाय। शासन द्वारा प्राप्त बजट का पूर्ण रूप से सदुपयोग किया जाय। जैसे कि स्वास्थ्य केन्द्रों में शौचालय, बैठने की व्यवस्था, प्रसव केन्द्र आदि आवश्कतानुसार मरम्मत कराया जाय। आशा एवं एएनएम के कार्यों का भुगतान समय से किया जाय। जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम ने शासी निकाय की बैठक में प्रधान मंत्री मातृत्व वन्दना योजना, आयुष्मान भारत मिशन, जननी सुरक्षा योजना, जेएसएसके योजना, पीसीपीएनडीटी, परियोजना नियोजन, नियमित टीटकाकरण, एचएमआईएस, एमसीटीएस, सपोर्टिंग सुपर विजन, आरबीएसके एवं आरकेएसके, 102 व 108 अम्बुलेंस सेवा, राष्ट्रीय कार्यक्रम, कम्यूनिटी प्रोसेस आदि कार्यक्रम की समीक्षा की। समीक्षा में कहा कि संचालित योजनाओं को जमीनी हकीकत में उतराने के लिए प्रचार-प्रसार करके लोगों को जागरूक किया जाय।
जिला स्वास्थ्य समिति की शासी निकाय की बैठक में जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम के अलावा मुख्य विकास अधिकारी डॉ0 अमित पाल शर्मा, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ0 बी0पी0 गौतम, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 बी0के0 अग्रवाल, जिला कार्यक्रम अधिकारी अजीत सिंह, प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों के प्रभारी चिकित्साधिकारीगण सहित अन्य सम्बन्धितगण मौजूद रहें।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!