प्रशासन की मुख्तार अंसारी के करीबियों के भवनों पर टेढ़ी नजर

फ़ैयाज़ खान मिस्बाही (ब्यूरो)

गाजीपुर । शासन के निर्देश पर जिला प्रशासन मुख्तार अंसारी के करीबियों पर लगातार शिकंजा कसता जा रहा है। गजल होटल के बाद अब जिला प्रशासन ने इनके करीबियों की संपत्ति और मकान पर नजर गड़ा दी है। कार्रवाई के भय से कभी खास होने का दंभ भरने वाले अब दूर-दूर तक कोई संबंध न होने की दुहाई दे रहे हैं। ऐसे अब तक जिला एवं पुलिस प्रशासन की ओर से जहां 39 करोड़ 83 लाख से अधिक की संपत्ति अवमुक्त कराई गई है, वहीं 50 से अधिक शास्त्र लाइसेंस निलंबित कराए जा चुके हैं।
प्रदेश सरकार ने अपराधियों को अपने निशाने पर ले लिया है। इसमें मऊ विधायक मुख्तार अंसारी गैंग पहले स्थान पर है। बीते जून माह से जो कार्रवाईयों का दौर चला,थमा नहीं।सबसे पहले गैंग के सक्रिय सदस्य भीम सिंह एवं रिश्तेदार राहुल सिंह द्वारा अंधऊ एयरपोर्ट की सरकारी भूमि पर किए गए कब्जे को खाली कराते हुए करीब 36 करोड़ 50 लाख रुपये की सरकारी संपत्ति अवमुक्त कराई गई।
इसके अलावा सहयोगियों और रिश्तेदारों की कंपनी विकास कंस्ट्रेक्शन फत्तेहउल्लाहपुर में अवैध रुव से कब्जा की गई दो करोड़ 80 लाख रुपये की जमीन अवमुक्त कराई गई। वही मंगई नदी पर अवैध तरीके मेहरूद्दीन खां उर्फ नन्हें द्वारा बनाए गए पुल का ध्वस्त कराते हुए कब्जाई गई दो मंडा जमीन एवं एक बोलेरो को सीज करते हुए 53 लाख रुपये की संपत्ति जब्त की गई। वहीं 50 से ऊपर शस्त्रों का लाइसेंस निलंबित कर विभिन्न थानों के मालखाने में जमा करा लिया गया था। ऐसे में अब उनके एक और करीबी की ओर से जिला प्रशासन ने अपनी नजर टेढ़ी कर दी है,जिससे समर्थकों में हड़कंप की स्थिति बनी हुई है।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!