आज से आंगनबाड़ी केंद्रों से बच्चों-महिलाओं को मिलेगा सूखा राशन

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

● 2079 आंगनबाड़ी केंद्रों पर होगा वितरण

● कलर कोडेड होगा नवीन सूखा राशन

● सूखा राशन के तहत चावल, दाल, गेहूँ, घी, मिक्स दूध पाउडर का होगा वितरण

सोनभद्र । बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग की ओर से संचालित आंगनबाड़ी केंद्रों पर बच्चों, गर्भवती महिलाओं और किशोरियों को दिया जाना वाला पुष्टाहार दलिया और पंजीरी नहीं मिलेगी। इसकी जगह अब उन्हें सूखे राशन का वितरण किया जाएगा। आज से जिले के सभी आंगनबाड़ी केंद्रों पर सूखा राशन का वितरण होगा। सूखा राशन में गेहूं, दाल, चावल व दुग्ध पदार्थ का वितरण होगा।

जिले के 2079 आंगनबाड़ी केंद्रों पर अब सूखे राशन के वितरण की प्रणाली को आज से लागू किया है। इसके लिए विभाग अक्टूबर में ही सभी बाल विकास परियोजना अधिकारी, मुख्य सेविका व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को पत्र के माध्यम से भी अवगत करा दिया गया था।

जिला कार्यक्रम अधिकारी अजीत कुमार सिंह ने बताया कि “शिशु, गर्भवती, धात्री व किशोरियों के स्वास्थ्य व सही पोषण को गति प्रदान करने के उद्देश्य से आंगनबाड़ी केंद्रों पर विभाग के माध्यम से लाभार्थियों को दिए जा रहे फोर्टीफाइड अनुपूरक पोषाहार के स्थान पर अब सूखा राशन वितरित किया जाएगा। सूखा राशन में गेहूं, दाल, चावल, देसी घी, मिक्स पाउडर केंद्र से वितरित किया जाना सुनिश्चित किया गया है। उन्होंने बताया कि गर्भवती, धात्री, महिलाओं व 11 से 14 वर्ष की किशोरियों को प्रतिमाह 2 किलो गेहूं, एक किलो चावल, 750 ग्राम दाल एवं तिमाही 450 ग्राम देशी घी, 750 ग्राम मिक्स पाउडर पोषाहार के रूप में उपलब्ध कराने का काम किया जायेगा। 6 माह से 3 वर्ष के बच्चों को प्रतिमाह 1.5 ग्राम गेहूं, एक किलो चावल, 450 ग्राम दाल एवं तिमाही 450 ग्राम देशी घी, 400 ग्राम स्किम्ड मिक्स दूध पाउडर दिया जायेगा। यह व्यवस्था 3 वर्ष से 6 वर्ष के बच्चों पर भी लागू है। इसी प्रकार अति कुपोषित बच्चों को प्रतिमाह 2.5 किलो गेहूं, 1.5 किलो चावल, 500 ग्राम दाल एवं तिमाही 900 ग्राम देशी घी, 750 ग्राम स्किम्ड मिक्स दूध पाउडर पोषाहार के रूप में वितरित किया जायेगा।”

उन्होंने बताया कि “पूर्व की तरह ही नवीन सूखा राशन भी कलर कोडेड होगा। गर्भवती व धात्री के लिए पीला, 6 माह से 3 वर्ष के बच्चों के लिए आसमानी नीला रंग। 3 वर्ष से 6 वर्ष तक के बच्चों के लिए हल्का हरा रंग का पैकेट। किशोरियों के लिए गुलाबी व अति कुपोषित बच्चों के लिए लाल रंग की पैकेजिग में ड्राई राशन का वितरण किया जाएगा।”

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!