गरीबों के खाद्यान्न का कोटेदार ने किया घोटाला, मुकदमा दर्ज

अबुलकैश डब्बल ब्यूरो
* पूर्ति विभाग की टीम ने छापेमारी कर जांच में पाया दोषी

चंदौली। कोटेदार द्वारा गरीबों के खाद्यान्न को हजम करने और नियमित ढंग से खाद्यान वितरण न किये जाने के आरोप में पूर्ति विभाग द्वारा जांच कर क्षेत्र के तोरवा निवासी कोटेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। पूर्ति निरीक्षक अमित द्विवेदी ने बताया कि शांतीपुर तोरवा गांव के कोटेदार ने गरीबों का लगभग 122 कुंतल चावल, गेहूं,चीनी और चना का घोटाला कर लिया है। जिसकी शिकायत मिलने पर जांच टीम बनाकर जाँचबकीय गया जिसमें सही तथ्य मिलने पर धानापुर थाने में कोटेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। इस विभागीय कार्रवाई से कोटेदारों में खलबली मची हुई है। बताया जाता है कि ग्रामीणों ने जिलाधिकारी से मिलकर कोटेदार के खिलाफ शिकायत दर्ज कराया था। डीएम के निर्देश डीएसओ कुंवर देवेन्द्र प्रताप सिंह और एसडीएम प्रदीप कुमार ने पूर्ति निरीक्षक अमित द्विवेदी और केके मिश्रा के नेतृत्व में टीम गठित किया। उच्चाधिकारियों के निर्देश पर बुधवार को टीम ने कोटेदार के दुकान पर छापेमारी किया। इस दौरान अक्टूबर माह का द्वितीय चक्र का 70 कुंतल गेहूं, 47 कुंतल चावल, साढ़े चार कुंतल चना और एक कुंतल चीनी गायब रहा। दुकान पर भारी अनियमियतता पाये जाने व खाद्यान गायब होने पर कोटेदार सचिन्द्र कुमार सिंह के खिलाफ धानापुर थाने में 3/7 के तहत मुकदमा दर्ज कराया गया। इस बाबत अमित द्विवेदी ने बताया कि दुकान को निलंबित कर बेवदा गांव से सम्बद्ध कर दिया गया है। उन्होंने यह भी कहा कि अगर ऐसी शिकायत अन्य कोटे पर मिलती है तो कड़ी कार्यवाही की जाएगी। छापेमारी टीम में पूर्ति निरीक्षक अमित द्विवेदी, केके मिश्रा और पूर्ति लिपिक नितिन कुशवाहा, दीपक कुशवाहा मौजूद रहे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!