जिला अस्पताल में अवैध रूप से गोदाम किसका, सीएमएस ने किया खुलासा

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

● जिला अस्पताल में नए अवैध गोदाम का खुलासा

● विभागीय अधिकारी कुछ भी बोलने को तैयार नहीं

सोनभद्र । जनपदीय ड्रग वेयर हाउस का मामला अभी ठंडा भी नहीं हुआ था कि स्वास्थ्य विभाग के एक और अवैध गोदाम की सूचना से स्वास्थ्य महकमे में हड़कम्प मचा हुआ है।जानकारी के अनुसार जिला अस्पताल परिसर में बने एक गोदाम को स्वास्थ्य विभाग ने ही अवैध गोदाम बना रखा है।गोदाम को लेकर जब जनपद न्यूज Live ने अपनी पड़ताल शुरू की तो पहले कोई भी अधिकारी या कर्मचारी मुंह खोलने को तैयार नहीं था लेकिन जैसे-जैसे पड़ताल आगे बढ़ी कई खुलासे होने लगे।

जब इस पूरे मामले पर जिला अस्पताल के सीएमएस डॉ0 पी0बी0 गौतम से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि यह गोदाम मलेरिया विभाग के कब्जे में है और लगातार खाली करने के लिए मौखिक व पत्राचार के माध्यम से कहा जा रहा है लेकिन अभी तक उक्त गोदाम को खाली नहीं किया गया।उन्होंने बताया कि गोदाम के अंदर क्या है इसकी जानकारी नहीं है लेकिन एक मलेरिया निरीक्षक की देखरेख व कब्जे में यह गोदाम होने की सूचना उन्हें जरूर है।

बहरहाल स्वास्थ्य विभाग के नए नए कारनामे से विभाग के अन्य अधिकारी व कर्मचारी खुद भी हैरान हैं। ऐसे में बड़ा सवाल यह उठता है कि आखिरकार इस गोदाम की आवश्यकता क्यों पड़ी और मलेरिया विभाग इसे खाली करने के बजाय कब्जे में क्यों रखे हुए है?

यह जानने के लिए जब पड़ताल की टीम ने जिला मलेरिया अधिकारी डी0के0 श्रीवास्तव से बात की तो उन्होंने मामले से अपना पल्ला झाड़ते हुए कहा कि वे किसी भी मामले में जानकारी देने के लिए अधिकृत नहीं हैं, इसके लिए सीएमओ से बात कर लें।लेकिन यहाँ सवाल ये खड़ा होता है कि यदि विभाग मलेरिया का है तो इस संबंध में सीएमओ क्या जानकारी देंगे? और फिर हर जानकारी सीएमओ के पास है तो विभाग के अधिकारी की जरूरत ही क्या है?

अब देखने वाली बात यह है कि जनपदीय ड्रग वेयर हाउस में पड़े सामानों की दुर्दशा व मलेरिया की एक्सपायर दवा मिलने के बाद जिला अस्पताल के गोदाम में ताला खुलने के बाद क्या कहानी सामने निकल कर आती है?

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!