प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेन्डर्स आत्म निर्भर निधि योजना के तहत पथ विक्रेताओं को ऋण स्वीकृति के दिए गए प्रमाणपत्र

दीनदयाल शास्त्री (ब्यूरो)

■ समस्त नगर पालिकाओं/नगर पंचायतों में आयोजित किया गया कार्यक्रम।

■ आत्मनिर्भर भारत के लिए आज का दिन बहुत ही महत्वपूर्ण।

■ प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेन्डर्स आत्म निर्भर निधि योजना से आत्मनिर्भर और सशक्त बन सकेगें पथ विक्रेता

पीलीभीत । रेहड़ी और पथ विक्रेताओं (छोटे सड़क विक्रेताओं) को अपना खुद का काम नए सिरे से शुरू करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेन्डर्स आत्म निर्भर निधि योजना के तहत मंगलवार को जिले के 1793 पटरी दुुकानदारों को ऋण स्वीकृति का प्रमाण पत्र वितरित किये गये। जनपद को रेहड़ी/पटरी विक्रताओं को लाभ प्रदान करने हेतु 9000 का लक्ष्य प्रदान किया गया है, योजना के अन्तर्गत अबतक 4009 लाभार्थियों के आवेदन पत्र हुये जिनमें 2361 लाभार्थियों हेतु आवेदन को जाॅचोपरान्त स्वीकृति प्रदान की गई है तथा आज ऋण वितरण कार्यक्रम के अन्तर्गत वितरण हेतु प्राप्त लक्ष्य 1476 के सापेक्ष जनपद में 1793 लाभार्थियों को ऋण स्वीकृति प्रमाण पत्र वितरित किये गये हैं, जो शासन द्वारा निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष 121 प्रतिशत स्वीकृति प्रदान की गई तथा जनपद को प्रदेश में 11 वाॅ स्थान प्राप्त हुआ है। जनपद की समस्त नगर पालिकाओं/नगर पंचायतों में आयोजित कार्यक्रम में आज देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने योजना के लाभार्थियों से वर्चुअल संवाद किया तथा उन्हें सम्बोधित किया। प्रधानमंत्री के उद्बोधन के उपरान्त विधायकगणों/जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों द्वारा योजना के अन्तर्गत चयनित पथ विक्रेताओं को प्रमाण पत्र प्रदान किया।

इस अवसर पर विधायक बरखेड़ा किशनलाल राजपूत ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत के लिए आज का दिन बहुत ही महत्वपूर्ण है। सरकार द्वारा सबका साथ-सबका विकास और सबका विश्वास के संकल्प के साथ हर तबके के लोगों के विकास के लिए बिना किसी भेदभाव के काम कर रही है। उन्होंने लाभार्थी पथ विक्रेताओं से अपील किया कि वे लोग सरकार द्वारा दी गई आर्थिक सहायता से अपने उद्यम संचालित करें और लाभ कमाएं।
अपर जिलाधिकारी (वि./रा.) ने बताया कि इस योजना के अंतर्गत जिले के लिए निर्धारित लक्ष्य 1793 के सापेक्ष शत-प्रतिशत से भी अधिक पथ विक्रेताओं को लाभान्वित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि रेहड़ी-पटरी वालों और ठेले पर सामान बेचने वाले अपना जीवन यापन करने के लिए काम नहीं कर पा रहे थे, उनकी समस्या को देखते हुए प्रधानमंत्री द्वारा इस योजना का प्रारम्भ किया गया है। स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर निधि के अंतर्गत रेहड़ी पटरी वालों को अपना काम दोबारा से शुरू करने के लिए सरकार द्वारा लोन मुहैया कराया जा रहा है जिससे इस योजना के जरिए रेहड़ी पटरी वाले आत्मनिर्भर और सशक्त बन सकेगें तथा इस योजना के जरिये गरीबों की आर्थिक व सामाजिक स्थिति में सुधार होगा।
इस दौरान नगर पालिका मा0 अध्यक्षा विमला जायसवाल, अपर जिलाधिकारी अतुल सिंह सहित नगर पालिका के अधिकारी/कर्मचारी व लाभार्थीगण उपस्थित रहे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!