विधायक निधि से बन रहे पुलिया निर्माण का मामला, ठेकेदार के खिलाफ मामला दर्ज

संजय केसरी (संवाददाता)

■ सुबह से जेई का नम्बर बता रहा स्विचऑफ

■ क्या अब काम होगा श्रमदान घोषित

■ आखिर काम शुरू होने के दौरान वन विभाग को क्यों नहीं पता चला

■ यदि शिकायत न होती तो वन विभाग की जमीन पर बन जाता पुलिया

डाला । ग्राम पंचायत बिल्ली मारकुंडी के बारी क्षेत्र के चकदहिया टोले में विधायक निधि से बन रहे पुलिया मामले में आखिरकार वन विभाग ने अवैध खनन के साथ अवैध निर्माण किये जाने को लेकर मामला दर्ज कर लिया है । वन विभाग के दरोगा त्रिलोकी दुबे ने बताया कि ठेकेदारों के खिलाफ वन विभाग की धारा 5/26 पंजीकृत किया गया है ।
इस पूरे मामले पर कार्यदायी संस्था के जेई से संपर्क करने के प्रयास किया गया तो उनका नम्बर सुबह से बन्द मिला ।
केस दर्ज होने के बाद यह साफ हो गया है कि जिस स्थान पर यह पुलिया निर्माण हो रहा था वह जमीन वन विभाग की है ।
अब सवाल यह उठता है कि आखिर यदि जमीन वन विभाग की थी तो पहले ध्यान क्यों नहीं दिया गया और इस पर आखिर बजट कैसे पास हो गया । इतना ही नहीं जब निर्माण कार्य शुरू हो रहा था तो जेई की नजर आखिर इस दिशा में क्यों नहीं पड़ी । इन सभी मामलों को लेकर अब पेंच फंस गया है । अब देखने वाली बात यह है कि यह काम श्रमदान घोषित होगा या फिर इसके लिए दोषियों के विरुद्ध कार्यवाही होगी।
फिलहाल काम को वन विभाग ने बन्द करा दिया है ।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!