शारदीय नवरात्र का अंतिम दिन : आज महानवमी मां सिद्धिदात्री की होती हैं पूजा

संजय केसरी (संवाददाता)

डाला । शारदीय नवरात्र का आज अंतिम दिन है। महानवमी के दिन कन्या पूजन की परम्परा है । आज कन्या पूजन का कार्यक्रम भी होगा । कोविड 19 को देखते हुए सरकार ने त्योहारों के लिए कुछ गाइडलाइंस जारी किए थे जिसके साथ त्योहार मनाने के लिए हरि झंडी दी गयी है । इसी के तहत अब शारदीय नवरात्रि का अंतिम दिन है। डाला वैष्णों मन्दिर में आज नवरात्र महानवमी के दिन सुबह ही मन्दिर के पट खोल दिये गए । मन्दिर प्रशासन के द्वारा कोविड को देखते हुए अपनी गाइडलाइन जारी कर रखा हैं। उन्होंने बिना मास्क के दर्शन पर प्रतिबंध लगाने की बात कही थी और एक बार मे पांच लोग ही जा सकेंगे। मन्दिर प्रशासन कोविड-19 को देखते हुए पूरी तैयारी कर रखा हैं और सुरक्षा के चाकचौबंद व्यवस्था भी की गई हैं । लेकिन जिस तरीके से पिछले वर्ष की तुलना में इस बार भीड़ नदारद रही । हालांकि मन्दिर परिसर में फूल मालाओं की दुकानें सजी हुई हैं।

मन्दिर के प्रधान पुजारी श्रीकांत तिवारी ने बताया कि शारदीय नवरात्रि का आज (25 अक्टूबर 2020, रविवार) अंतिम दिन है। इस दिन मां सिद्धिदात्री की पूजा की जाती है। मान्यता है कि मां सिद्धिदात्री यश, बल के साथ धन देती हैं। मां दुर्गा के नौवें स्वरूप की अराधना के दिन बैंगनी या जामुनी वस्त्र पहनना शुभ माना जाता है। रविवार के दिन ही व्रती हवन पूजन के साथ व्रत का पारण करेंगे। ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक, 25 अक्टूबर की सुबह 7 बजकर 41 मिनट तक ही नवमी तिथि होने के कारण शाम को दशहरा का त्योहार मनाया जाएगा। इस बार कोविड-19 के कारण पूरी नवरात्र में दर्शनार्थियों की संख्या कम रही हैं जहाँ हर वर्ष हजारों हजार की संख्या में श्रद्धालु आते थे लेकिन इस बार श्रद्धालुओं की संख्या बिल्कुल न के बराबर हैं । लेकिन जो भी श्रद्धालु माँ वैष्णो देवी के दर्शन के लिए आ रहे हैं उन्हें कोविड 19 का पालन कराया जा रहा और वे माता की दर्शन पूजन भी कर रहे हैं और श्रद्धालु अच्छे तरीके से माँ के दर्शन कर पा रहे हैं।

और उन्होंने ने बताया कि आज शारदीय नवरात्र का अंतिम दिन महानवमी हैं । आज कन्या पूजन और उनके भोजन के बाद आज दिनभर भक्तों को हलवा घुघरी का प्रसाद वितरण होगा।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!