बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम के बारे में किया जागरूक

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । “मिशन शक्ति नारी सुरक्षा व सम्मान” अभियान के अंतर्गत आज बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम के बारे में महिलाओं को जागरूक किया गया तथा 181/112/108/1098/1090 के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी गयी। रॉबर्ट्सगंज ब्लाक में आयोजित कार्यक्रम में जिसमें स्वयं सहायता समूह की महिलाएं तथा स्थानीय महिलाओं को जागरूक किया गया। वहीं महिला शक्ति केंद्र तथा श्रम विभाग द्वारा संयुक्त रूप से स्वयं सहायता समूह तथा स्थानीय महिलाओं को भ्रूण हत्या रोकने, बेटा-बेटी को एक समान रखने तथा बल विवाह रोकने की शपथ भी दिलाई गई।

इस दौरान महिला कल्याण अधिकारी नीतू यति सिंह ने बताया कि “बाल विवाह निषेध अधिनियम के अंतर्गत दो वर्ष का कारावास तथा एक लाख में जुर्माने का प्रावधान है। उन्होंने बताया कि अगर किसी के आसपास बाल विवाह हो तो वह महिला शक्ति केंद्र तथा 1098 पर सूचना दे सकते है। महिला कल्याण अधिकारी ने कहा कि बाल विवाह एक अपराध है। इसे रोकने के लिए कम से कम सभी महिलाओं को आगे आना होगा।”

कार्यक्रम के दौरान मौजूद सभी महिलाओं ने भी बाल विवाह रोकने में अपना हरसंभव योगदान देने का भरोसा दिलाया।

इस दौरान श्रम विभाग के नौशाद, विद्यालय की अध्यापिकाएँ पूजा पांडेय, वंदना सिंह सहित अन्य महिलाएँ उपस्थित रही।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!