कार्यदायी संस्था के ठेकेदार के विरूद्व कार्यों की गुणवत्ता खराब होने पर दर्ज कराई गई एफआईआर -जिलाधिकारी

दीनदयाल शास्त्री (ब्यूरो)

मौके पर पीला ईंट का प्रयोग करते हुये पाए जाने पर सम्बन्धित सहायक अभियंता का स्पष्टीकरण तलब व जेई को दिये निलम्बन के आदेश-जिलाधिकारी

-एआरएम द्वारा नियमित पर्यवेक्षण न किये जाने के कारण तलब किया गया स्पष्टीकरण-जिलाधिकारी

-गुणवत्तापूर्ण सामग्री का प्रयोग न करने के कारण संबंधित संस्था से की जाएगी रिकवरी -जिलाधिकारी

पीलीभीत । जिलाधिकारी पुलकित खरे द्वारा मंगलवार को पूरनपुर तहसील में उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम द्वारा निर्माणाधीन बस स्टेशन का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान निर्माणाधीन संस्था द्वारा कराये गए विद्युत कार्य की गुणवत्ता खराब पाई गई तथा मौके पर निर्माणाधीन खंड़ंजे में पीला ईंट का प्रयोग पाए जाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए संबंधित जेई सिकंदर पाल के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही करते हुए निलंबन करने के आदेश दिए गए तथा गुणवत्तापूर्ण सामग्री का प्रयोग न करने के कारण संबंधित संस्था से रिकवरी करने के आदेश दिया गए। बस स्टेशन के कार्य का नियमित पर्यवेक्षण न करने के कारण एआरएम का स्पष्टीकरण तलब किया गया। इस दौरान कार्यदायी संस्था उत्तर प्रदेश निर्माण निगम के सहायक अभियंता ए.पी. सिंह का भी स्पष्टीकरण तलब करने के निर्देश दिए गए। निर्माणाधीन कार्य से संबंधित ठेकेदार मुकेश अरोरा के विरुद्ध मानक के अनुरूप कार्य न करने व खराब सामग्री का प्रयोग के कारण एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिए गए। उन्होंने एआरएम को कड़े निर्देश देते हुए कहा कि नियमित कार्यों का पर्यवेक्षण किया जाए और साथ ही साथ यह भी सुनिश्चित किया जाए कि भवन हैंडओवर करने से पूर्व समस्त कार्यों को मानक के अनुरूप पूर्ण करा लिया जाए। उन्होंने कहा कि तकनीकी व गुणवत्ता की जांच हेतु तत्काल टीम गठित कर तत्काल कराना सुनिश्चित किया जाए।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!