घोरावल ‘सम्पूर्ण समाधान दिवस में 113 मामलों में 13 का निस्तारण, 100 बकाया

राजकुमार गुप्ता (संवाददाता)

घोरावल । शासन की मन्शा के अनुरूप जिले की चारों तहसीलों में ‘‘सम्पूर्ण समाधान दिवस ‘‘ का आयोजन अक्टूबर महीने के तीसरे मंगलवार को किया गया। तीसरे मंगलवार के सम्पूर्ण समाधान दिवस की खासियत यह रही कि सभी अधिकारी अपना-अपना नेम प्लेट लगाकर जनता की समस्याओं को सुनते हुए मामले को निस्तारित करने के लिए तत्पर रहें और तहसील परिसर में ही अपनी-अपनी विभागीय योजनाओं का स्टाल लगाकर नागरिकों को जानकारी दे रहे थे।
मुख्य सम्पूर्ण तहसील समाधान दिवस घोरावल में जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम ने मौजूद सभी अधिकारियों का दायित्वबोध कराते हुए कहा कि तहसील दिवस में अब सम्बन्धित विभाग के अधिकारी अपने-अपने विभागों के समस्याओं को सुनेंगे और जो प्रकरण मौके पर निस्तारित नहीं होंगे, उनका प्रकरण सम्पूर्ण तहसील समाधान दिवस के मौके पर विभागीय कार्मिकों की टीम द्वारा किया जायेगा और जो मामले एक या दो दिन के अन्दर निस्तारित नहीं होंगे, उनका निस्तारण उच्च स्तरीय अधिकारी द्वारा मौके पर जाकर निस्तारित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि खड़देउर के आपसी जमीनी विवाद के मामले में दोनों पक्षों का कड़ाई के साथ पाबंद किया जाय और असलहाधारियों का असलहा जमा करा लिया जाय। उन्होंने लम्बित प्रकरणों की समीक्षा करते हुए, जिन विभागों के शिकायती पत्र डिफाल्टर श्रेणी में हो गयी हैं, उन लापरवाहों के खिलाफ पत्र लिखने के निर्देश दिये।
तहसील सम्पूर्ण तहसील समाधान दिवस में जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम, मुख्य विकास अधिकारी डॉ0 अमित पाल शर्मा, उप जिलाधिकारी घोरावल जैनेन्द्र, तहसीलदार विकास पाण्डेय, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 एस0के0 उपाध्याय, डीसी मनरेगा टी0बी0 सिंह, डी0सी0 एनआरएलएम ए0के0 जौहरी, पीडी आर0एस0 मौर्या आदि ने 113 शिकायतें सुनते हुए, मौके पर ही 08 मामलें निस्तारित किया और मौके पर जाकर निस्तारित करने के लिए 05 टीमों को भेजा जो 05 प्रकरणों को निस्तारित किये। इस प्रकार तहसील दिवस घोरावल में कुल 13 मामले निस्तारित हुए, बाकी 100 प्रकरणों को समयबद्ध तरीके से निस्तारित करने की कार्यवाही अमल में लायी जा रही है।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!