दुर्गापूजा पर कोरोना की मार, मूर्तिकारों का चौपट हुआ कारोबार

घनश्याम पांडेय/विनीत शर्मा (संवाददाता)

चोपन । कोरोना महामारी के कारण मूर्तिकारों को काफी नुकसान हुआ। हर साल दुर्गापूजा के लिए मूर्ति बनाने वाले कारीगरों को सांस लेने की भी फुर्सत नहीं होती थी, दिन रात अपने परिवार के साथ मिलकर माता की भव्‍य मूर्तियां तैयार करते थे जिससे अच्‍छी आमदनी हो सके। इस बार कोरोना महामारी के कारण उनका व्‍यापार ही चौपट हो गया है। एक मूर्तिकार ने बताया कि, “इस बार हमें कोई भी मूर्तियों के ऑर्डर नही मिले हैं। हमें इस साल बहुत नुकसान हुआ है।
मूर्तिकारों का कहना है कि इस संकट की घड़ी में उनकी रोजी रोटी के भी लाले पड़ गये हैं, उन्‍हें चिंता सताने लगी है कि इस नुकसान के बाद अपने पूरे साल का खर्चा वो कैसे चलाएंगे। मूर्तिकलाकर दुर्गापूजा में बंगाल से चोपन आकर मूर्तियां बनाकर वो जो व्‍यापार करते थे उससे ही उनके सालभर का खर्चा चलता था। ये मूर्तिकार दुर्गापूजा के लिए प्रतिमाएं बनाकर उससे हुई कमाई से सालभर अपने परिवार का पालन-पोषण करते थे।
एक मूर्तिकार ने बताया कि हर साल मैं छोटी-बड़ी लगभग 50 मूर्तिया बनाता था। इस बार अब तक एक भी मूर्तियों के ऑर्डर नही मिल पाये हैं। ऐसे में हम लोगों के सामने रोजी-रोटी का संकट पैदा हो गया है। एक अन्‍य मूर्तिकार ने बताया कि कोरोना का असर दुर्गापूजा के काम पर पड़ रहा है। दुर्गा पूजा समितियां हमें बड़े-बड़े ऑर्डर देती थी, इन भव्‍य मूर्तियों की कीमत भी हजारों में होती थी लेकिन इस बार वो आर्डर नहीं मिल पाये हैं।

—————————————————————

नवरात्र पर दर्शन करें विंध्याचल धाम

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!