हाथरस कांड : उच्च न्यायालय लखनऊ में सुनवाई पूरी, फैसला सुरक्षित

उच्च न्यायालय लखनऊ पीठ के न्यायमूर्ति पंकज मित्तल एवं न्यायमूर्ति राजन राय ने हाथरस कांड पर सुनवाई करने के बाद अगली सुनवाई की तिथि 2 नवंबर के लिए नियत की है कोर्ट में सुनवाई के दौरान अपर मुख्य सचिव पुलिस महानिदेशक अपर पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था ने अपने बयान दर्ज कराएं इसके साथ ही पीड़ित परिवार के सदस्यों द्वारा भी अपने बयान दर्ज कराया गया न्यायालय के समक्ष हाथरस के डीएम एवं पुलिस अधीक्षक का भी बयान दर्ज किया गया। इस दौरान जिला मजिस्ट्रेट ने कहा की पीड़िता का रात में अंतिम संस्कार करने का जो निर्णय लिया गया था वह उस समय की कानून व्यवस्था को देखते हुए अधिकारियों द्वारा लिया गया था इसमें पीड़िता के परिवार पर किसी भी तरह का कोई दवा नहीं था । यद्यपि खंडपीठ ने सुनवाई पूरी कर ली परंतु अदालत द्वारा निर्णय नहीं लिखा गया तथा यह कहा गया कि इस संबंध में चेंबर में आदेश पारित करेंगे । इस मामले में अदालत की मदद करने हेतु वरिष्ठ अधिवक्ता जे एन माथुर को न्याय मित्र के रुप में गत 1 अक्टूबर को नियुक्त किया गया था । वरिष्ठ अधिवक्ता जे एन माथुर ने कहा कि अदालत को इस संबंध में दिशा निर्देश जारी करना चाहिए कि अगर इस तरह की स्थिति जैसे कि हाथरस में पैदा हुई है तब रात्रि में संस्कार करने के लिए क्या किया जाएगा ।सरकार की ओर से पक्ष रखने के लिए अपर महाधिवक्ता वीके शाही मौजूद थे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!