नौ दिनों के शारदीय नवरात्रि में,देवी के नौ अवतारों की होगी पूजा, बन रहा है स्वार्थ सिद्धि योग

अश्विन मास की नवरात्रि को शारदीय नवरात्रि कहा जाता है। नौ दिनों तक चलने वाले नवरात्र के त्योहार में देवी के नौ अवतारों की पूजा की जाती है। नवरात्रि साल में दो बार मनाएं जाते हैं एक चैत्र मास के और दूसरे अश्विन मास के। इसके अलावा दो गुत्त नवरात्रि भी आते हैं। शारदीय नवरात्रि का अपना महत्व है। देश के पूर्वी भाग में नवरात्रि को दुर्गा पूजा भी कहते हैं। ऐसी मान्यता है कि मां भगवती ने महिषासुर का अंत किया था। वहीं कई राज्यों में नवरात्रि के नौ दिनों में रामलीला का आयोजन भी किया जाता है। इसके बाद दशहरे के दिन रावण का दहन किया जाता है। इस बार नवरात्रि में मां घोड़े पर सावर होकर आ रही हैं। 17 अक्टूबर को सर्वार्थ सिद्धि योग बन रहा है। आपको बता दें कि ज्योतिष शास्त्र में सर्वार्थ सिद्धि योग बेहद शुभ योग माना जाता है। नवरात्रि के नौ दिन मां के लिए उपवास रखा जाता है। दसवें दिन कन्या पूजन के पश्चात उपवास खोला जाता है।

शारदीय नवरात्र की मुख्य तिथि:

17 अक्टूबर 2020: प्रतिपदा घटस्थापना
18 अक्टूबर 2020: द्वितीया मां ब्रह्मचारिणी पूजा
19 अक्टूबर 2020: तृतीय मां चंद्रघंटा पूजा
20 अक्टूबर 2020 : चतुर्थी मां कुष्मांडा पूजा
21 अक्टूबर 2020: पंचमी मां स्कंदमाता पूजा
22 अक्टूबर 2020: षष्ठी मां कात्यायनी पूजा
23 अक्टूबर 2020: सप्तमी मां कालरात्रि पूजा
24 अक्टूबर 2020 :अष्टमी मां महागौरी दुर्गा महा नवमी पूजा दुर्गा महा अष्टमी पूजा
25 अक्टूबर 2020 : नवमी मां सिद्धिदात्री नवरात्रि पारण विजय दशमी

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!