ओपीपी कॉलेज ऑफ पैरा मेडिकल एंड साइंसेज में मनाई गई गांधी-शास्त्री जयंती

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती ओमप्रकाश पांडेय कॉलेज ऑफ पैरा मेडिकल एंड साइंसेज में बड़ी ही श्रद्धा और उत्साह के साथ मनाई गई। इस अवसर पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए राष्ट्रपिता व पूर्व प्रधानमंत्री को नमन किया गया।

इस अवसर पर डॉयरेक्टर ओम प्रकाश पांडेय ने कहा कि “आज का दिन बड़ा ही महत्वपूर्ण है क्योंकि आज पूरे विश्व में गांधीजी की प्रेरणा से ही अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस के रूप में मनाता है। जय जवान, जय किसान का नारा देने वाले पूर्व प्रधानमंत्री लालबहादुर शास्त्री एक महान नेता थे। इन दोनों नेताओं ने अपने जीवन में आदर्श स्थापित किए है। एक गांधी जी थे जिन्होंने सत्य ओर अहिंसा का पाठ पढ़ाया, आत्मविश्वास ओर आत्मनिर्भरता से जीना सिखाया। महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री सादगी के प्रतिमूर्ति थे। आज के दिन हमें उनके बतायें मार्ग पर चलने का संकल्प लेना चाहिए। लाल बहादुर शास्त्री को लोग गुदड़ी के लाल के रूप में याद करते हैं। वह देश के दूसरे प्रधानमंत्री थे। लेकिन उनकी पहचान उनके सादा जीवन और उच्च विचार के कारण थी। लाल बहादुर शास्त्री का जन्मदिन भी महात्मा गांधी के जन्मदिन के दिन यानी 2 अक्टूबर को ही होता है। दोनों महान विभूतियों की प्रेरणादायक जीवन गाथा देश और दुनिया के लिए अनमोल धरोहर हैं।”

प्रिंसिपल आर0के0द्विवेदी ने संस्कृत के एक श्लोक के माध्यम से गाँधी जी व शास्त्री जी के विचारों स्पष्ट करते हुए कहा कि

“यस्थ रागादिनां न मनोदूषितम् तेन काशी, अयोध्या गतां वा न वा।

येन माता पिता सेवया पूजितौ मंदिरे तेन पूजां कृता वा न वा।।”

इस दौरान सह निदेशक अश्विनी पांडेय, मैनेजर सिद्धार्थ पांडेय, फैकेल्टी अन्नू मौर्या, पंकज द्विवेदी, प्रीति उपाध्याय, नेहा पांडेय, आकाश सोनी, रविकांत, रंजीत, अमरेश, ममता पटेल, ज्योति केशरी उपस्थित रहे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!