संस्थाओं में कार्यरत सभी श्रमिकों का पंजीकरण कराया जाना अनिवार्य – नोडल अधिकारी

दीनदयाल शास्त्री (ब्यूरो)

पीलीभीत । अपर मुख्य सचिव, श्रम एवं सेवायोजन विभाग, उत्तर प्रदेश शासन सुरेश चन्द्रा की अध्यक्षता में निर्माण कार्यों से सम्बन्धित समीक्षा बैठक गांधी सभागार कलेक्ट्रेट में सम्पन्न हुई। नोडल अधिकारी द्वारा निर्माण कार्यों की समीक्षा के दौरान रामलुभाई साहनी महाविद्यालय में निर्माण कार्य पूर्ण होने के उपरान्त हैण्डओवर न किये जाने पर सम्बन्धित संस्था को तत्काल हैण्डओवर करने के निर्देश दिये गये। जनपद में सीएनडीएस द्वारा निर्माणाधीन सीएससी माधौटाड़ा, आश्रय गृह बीसलपुर, आश्रय गृह पीलीभीत, राजकीय महाविद्यालय पूरनपुर सहित अन्य कार्यों के समीक्षा के दौरान संस्था को कार्यों में तेजी लाने के निर्देश देते हुये कहा कि कार्यों को निर्धारित समय सीमा में पूर्ण किया जाये और जो कार्य पूर्ण हो चुके हैं उनकों तत्काल विभाग को हस्तान्तरित करना सुनिश्चित किया जाये।
निर्माण कार्यों की समीक्षा के दौरान अपर मुख्य सचिव द्वारा कडे़ निर्देश देते हुये कहा कि शासन की मंशा के अनुरूप समंस्त कार्य मानक के अनुरूप ससमय पूर्ण किये जाये। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नही होगी, जिन कार्यों में प्राप्त धनराशि का उपभोग कर लिया गया है उसका मांग पत्र भेजते हुये धनराशि की मांग तत्काल कर ली जाये, कोई भी कार्य अपने स्तर से लम्बित न रखा जाये। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के कारण प्रभावित कार्यों को तेजी के साथ कराया जाना सुनिश्चित किया जाये तथा कार्यों की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दिया जाये एवं निर्धारित स्टीमेट के अनुसार कार्य पूर्ण होने के उपरान्त ही हैण्डओवर की प्रक्रिया सुनिश्चित की जाये। निर्माण कार्यों की समीक्षा के दौरान समस्त संस्थाओं को कड़े निर्देश देते हुये कहा कि संस्था में कार्यरत समस्त श्रमिकों का पंजीकरण कराना सुनिश्चित किया जाये। जिससे सरकार द्वारा श्रमिकों के लिए संचालित शादी अनुदान, शिक्षा अनुदान, दुर्घटना राहत जैसी अनेक महत्वपूर्ण व लाभपरक योजनाओं का लाभ प्रदान किया जा सके। बैठक में सेवायोजन अधिकारी को निर्देशित किया गया कि जिलाधिकारी के निर्देशन में जनपद के समस्त प्रशिक्षण संस्थानों व उच्च शिक्षा से सम्बन्धित छात्र/छात्राओं का सेवायोजन पोर्टल पर शतप्रतिशत पंजीकरण कराना सुनिश्चित किया जाये।
बैठक के दौरान नोडल अधिकारी द्वारा मनरेगा योजना के तहत कराये जा रहे कार्यो, राशन वितरण व संचारी रोगों नियंत्रण के तहत ग्रामीण क्षेत्र में साफ सफाई के सम्बन्ध में समीक्षा की गई। इस दौरान जिला पंचायतराज अधिकारी को निर्देशित किया गया कि समस्त ग्राम पंचायतों में फोगिंग व छिडकाव से सम्बन्धित की गई कार्यवाही मय फोटो सहित डाटा तैयार किया जाये तथा साफ सफाई के कार्यो को प्राथमिकता के आधार पर कराया जाये, जिससे मच्छर जनित बीमारियां न पनपने पायें।
बैठक के दौरान जिलाधिकारी पुलकित खरे, मुख्य विकास अधिकारी श्रीनिवास मिश्र, अपर जिलाधिकारी (वि.रा.) अतुल सिंह, अपर जिलाधिकारी (न्यायिक) देवेन्द्र प्रताप मिश्र, डा0 सीमा अग्रवाल, नगर मजिस्ट्रेट अरूण कुमार सिंह, उप जिलाधिकारी सदर, जिला सेवायोजन अधिकारी, डीसीमनरेगा मृणाल सिंह, श्रम प्रवर्तन अधिकारी, जिला पंचायतराज अधिकारी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!