84 उद्यमियों के बीच 23.45 लाख रुपये का ऋण वितरित

रमेश यादव ( संवाददाता )

दुद्धी भारतीय उद्धमिता विकास संस्थान एवं राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन ग्राम्य विकास विभाग के द्वारा विकास खण्ड दुद्धी में कोरोना महामारी से अपने रोजगार खो चुके परिवारों के लिए में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के स्टार्टअप ग्रामीण उद्धमिता कार्यक्रम के तहत 84 उद्यमियों में ₹23.45 लाख का ऋण वितरित किया गया। स्टार्टअप ग्रामीण उद्यमिता कार्यक्रम के संचालन में नोडल एजेंसी के रूप में कार्यरत नारी शक्ति प्रेरणा संकुल स्तरीय संघ बिडर ने इसमें अहम भूमिका निभाई।

परियोजना प्रबंधक प्रत्युष त्रिपाठी ने बताया कि “इसमें विकास खण्ड के विभिन्न क्षेत्रों से आये आजीविका मिशन के समूह से जुड़े 100 अधिक उद्यमियों ने उद्धम हेतु ऋण के लिए आवेदन किया था। लोन समिति की बैठक में प्राप्त आवेदनों पर चर्चा के बाद आवेदकों के साक्षात्कार लिए गए एवं उनके उद्यम से संबंधित जोखिम तथा वर्तमान स्थिति पर चर्चा की गई। आवेदनों का ग्रेडिंग कर अंततः 84 आवेदको को ₹23.45 लाख की सामुदायिक उद्यम निधि स्वीकृत की गई। इसमे नए उद्यम स्थापित करने वाले एवम पुराने उद्यमी भी शामिल हैं। फेरी की दुकान, अंडे की दुकान, किराना दुकान, कपड़े की दूकान, सिलाई का दुकान, बांस टोकरी बनाने के लिए आदि जो पहले से ही संचालन में हैं उन्हें बढ़ाने को ऋण स्वीकृत किया गया है।”

लेखाकार आकाश यादव ने बताया कि “स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिला समूह ऋण लेकर उद्यमी के रूप में काम कर रही है । उनके उद्यमो को बढ़ावा देने के उद्देश्य से जनपद के एकमात्र ब्लॉक दुद्धी में स्टार्टअप ग्रामीण उद्यमिता कार्यक्रम की शुरुआत की गई हैं।”

ब्लॉक मिशन मैनेजर जगदीश ने चर्चा के दौरान बताया कि CRPEP के द्वारा एप से बिज़नेस प्लान बनाकर लक्ष्य से भी ज्यादा रिकार्ड 560 दुकानों के बीच एक करोड़ बहत्तर लाख आठ हजार की ऋण धनराशि को वितरित किया गया है तथा लगभग सभी उद्यमी कि समय से ऋण वापसी भी हो रही है।

इस एल0सी0एम में परियोजना प्रबंधक प्रत्युष त्रिपाठी, नोडल बी0एम0एम0 जगदीस, भोला प्रशाद, लेखाकार आकाश यादव, सचिव प्रमिला, मास्टर सी0आर0पी0ई0पी0 शशिकांत, सुरेन्द्र, उदय आदि उपस्थित रहे ।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!