28 सितम्बर को मशाल जुलूस निकाल बिजलीकर्मी निजीकरण के विरोध का फूकेंगे बिगुल

आनन्द कुमार चौबे/कृपाशंकर पाण्डेय (संवाददाता)

सोनभद्र । विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति के आह्वान पर उत्तर प्रदेश के सभी ऊर्जा निगमों के बिजली कर्मचारी, जूनियर इंजीनियर व अभियंता 29 सितंबर से तीन घंटे का कार्य बहिष्कार करेंगे। संघर्ष समिति द्वारा सरकार और प्रबंधन को भेजी गई नोटिस में कहा गया है कि यदि निजीकरण का प्रस्ताव निरस्त न किया गया तो पांच अक्टूबर से बिजली कर्मी पूरे दिन का कार्य बहिष्कार करेंगे।

इस दौरान आज ओबरा में भी बिजलीकर्मियों ने एक घंटे का विरोध सभा कर अपना गुस्सा प्रकट किया।

बिजलीकर्मियों ने बताया कि “कार्य बहिष्कार आंदोलन के पहले शहीद-ए-आजम भगत सिंह के जन्मदिन पर 28 सितंबर को राजधानी लखनऊ सहित प्रदेश के सभी जनपदों व परियोजनाओं पर शाम पांच बजे मशाल जुलूस निकाला जाएंगा। ओबरा में मशाल जुलूस परियोजना चिकित्सालय के पीछे कार्यक्रम स्थल से प्रारंभ किया जाएगा। उन्होंने बताया कि संघर्ष समिति द्वारा पूर्व में ही यह नोटिस दे दी गई है कि यदि पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम के निजीकरण के विरोध में शामिल किसी भी अधिकारी अथवा कर्मचारी के साथ उत्पीड़ात्मक कार्यवाही की गयी तो उसी क्षण अनिश्चितकालीन आंदोलन जिसमें हड़ताल भी होगी, प्रारम्भ कर देंगे।”

सभा अध्यक्षता दिनेश यादव तथा संचालन प्रह्लाद शर्मा ने किया।

सभा को इं. अदालत वर्मा, इं. अभय प्रताप सिंह, प्रह्लाद शर्मा, श्रीकान्त गुप्ता, एसवीपी सिंह, लालता तिवारी, शाहिद अख्तर आदि ने संबोधित किया।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!