जन अधिकार पार्टी ने कृषि बिल के विरोध में आयोजित भारत बन्द का किया समर्थन

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । आज किसान विरोधी कानून के विरोध में जन अधिकार पार्टी के कार्यकर्ताओं ने सोनभद्र में करकी चट्टी पर दुकानें बंद कराकर भारत बंद का समर्थन किया।

जिलाध्यक्ष आदित्य मौर्या व जिला उपाध्यक्ष संजय कुमार ने कहा कि “भारत सरकार ने किसानों के विरुद्ध विध्वंस कारी कानून बनाया है। न्यूनतम समर्थन मूल्य समाप्त कर दिया है। उद्योगपतियों को खाद्यानों की असीमित भंडार करने की छूट दे दी है। और उद्योग कांट्रैक्ट फार्मिंग (ठेके पर खेती) माध्यम से किसानों को उनकी अपनी भूमि से वंचित करने की योजना बनाई है। किसानों द्वारा आंदोलन होने पर हालांकि प्रधानमंत्री द्वारा यह घोषणा की गई है कि न्यूनतम समर्थन मूल्य समाप्त नहीं किया जाएगा, किंतु जो बिल संसद में पास किया है उसमें न्यूनतम समर्थन मूल्य का कोई प्रावधान नहीं है, इसलिए प्रधानमंत्री का वक्तव्य एक छलावा है। जब सरकार खाद्यान्न किसानों से खरीदेगी नहीं तो उसका भंडारण भी नहीं करेगी। भंडारण करने के लिए भी पुंजिपतियो को छूट दे दी गई है। जिससे कालाबाजारी बढ़ेगी, किसानों के ऊपर व्यापारियों द्वारा सस्ते दामों में क्रय किया जाएगा और फिर बड़े व्यापारियों द्वारा बाद में महंगे दामो पर बेचा जाएगा । जिससे देश के समस्त उपभोक्ताओं को चीजें महंगे दामों पर में मिलेंगे।
केंद्र सरकार के यह तीनों कानून अत्यंत विध्वंशकारी है और देश के किसानों को गुलामी की तरफ ले जाने वाली है। जन अधिकार पार्टी मांग करती है कि किसान विरोधी कानून को तत्काल निरस्त किया जाए।”

इस दौरान मिर्जापुर मंडल अध्यक्ष डा0 भागीरथी सिंह मौर्य, महिला प्रकोष्ठ की जिलाध्यक्ष रानी सिंह, जिला महामंत्री रविरंजन शाक्य, सुनील कुमार, मोती सिंह, जगन्नाथ, अंजेश ,बहादुर सिंह, प्रदीप मौर्य, धीरेंद्र प्रताप , अश्विनी कुमार, उमाशंकर सहित अन्य कार्यकर्ता सम्मिलित रहे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!