निजीकरण के विरोध में विद्युतकर्मियों ने किया प्रदर्शन व निकाला कैंडल मार्च

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । जिला मुख्यालय स्थित कार्यालय अधीक्षण अभियंता, विद्युत वितरण निगम पर आज विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति के संयुक्त आह्वान पर ऊर्जा क्षेत्र के निजीकरण के विरोध में विरोध प्रदर्शन किया तथा शाम को नगर में कैंडल मार्च निकाला। इस दौरान विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति के पदाधिकारियों के आह्वान पर जिले में कार्यरत विद्युत पदाधिकारियों और कर्मियों ने बिजली विभाग कार्यालय के समक्ष धरना-प्रदर्शन किया।

मौके पर कर्मियों ने नारेबाजी करते हुए बिजली विभाग के निजीकरण के निर्णय का विरोध कर सरकार से निर्णय वापस लेने की मांग की। वहीं शाम को बिजली कर्मियों ने कैंडल मार्च भी निकाला।

कर्मियों ने बताया कि “सरकार के इस निर्णय से ना सिर्फ देश के उपभोक्ताओं को भारी नुकसान होगा, बल्कि बिजली विभाग को जीवन भर अपना सर्वस्व न्योछावर करने वाले विद्युत कर्मियों की क्षति होगी। कर्मियों ने बताया कि समन्वय समिति के निर्णय के आलोक में उपभोक्ताओं और कर्मियों के हक और अधिकार की मांग को लेकर पूरे देश में एक साथ विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। बावजूद अगर सरकार अपने निर्णय पर अडिग रहती है तो दिन रात मेहनत कर लोगों की सेवा में जुटे विद्युत कर्मियों को भारी नुकसान उठाना पड़ेगा। आंदोलित कर्मियों ने सरकार से बिजली विभाग के नियम व शर्तों को ध्यान में रखते हुए जनहित में निर्णय लेने की अपील की है।”

इस दौरान सर्वेश कुमार सिंह, रामेंद्र पांडेय, सत्य प्रकाश, सुजीत पाठक, आशीष कुमार सिंह, विनोद, सिद्धार्थ, राजेंद्र, आनंद, अंकित, दिनेश समेत भारी संख्या में बिजलीकर्मी मौजूद रहे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!