वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये सीएम ने किया विकास कार्यों की समीक्षा

दीनदयाल शास्त्री (ब्यूरो)

■ सामुदायिक शौचालय व ग्राम पंचायत भवन के निर्माण संबंधी कार्यों को प्राथमिकता से कराया जाए पूर्ण

■ आमजन की समस्याओं को प्राथमिकता के आधार पर किया जाए निस्तारित- मुख्यमंत्री

■ विकास कार्यों को समयबद्ध व गुणवत्तापूर्ण ढंग से किये जाए पूर्ण, विकास कार्यों में किसी भी प्रकार की लापरवाही अक्षम्य- मुख्यमंत्री

पीलीभीत । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बरेली मण्डल के जनपदों के विकास कार्यों की समीक्षा के दौरान जनपद पीलीभीत के विकास कार्यों की समीक्षा की गई। मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास कार्यों को गुणवत्तापरक ढ़ंग से व समयबद्वता के साथ पूर्ण किया जाये। मुख्यमंत्री द्वारा वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से समीक्षा के दौरान जनपद पीलीभीत के माह अगस्त 2020 के विकास कार्यों की समीक्षा की । इस अवसर पर उन्होंने जनपद से संबंधित सांसद एवं विधायकगण से निर्माणधीन विकास परियोजनाओं की प्रगति आदि के संबंधित फीडबैक प्राप्त किया गया। उन्होंने विकास की गति में और तीव्रता के साथ किए जाने के निर्देश देते हुए कहा कि परियोजनाओं और विकास कार्यों को समयबद्ध व गुणवत्तापूर्ण ढंग से मानकों के अनुसार पूर्ण किया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास कार्यों में किसी भी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नहीं होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास कार्यों के साथ साथ जनप्रतिनिधि व प्रशासन के मध्य अच्छा संवाद स्थापित करते हुये स्थानीय स्तर पर जनहित से जुडे़ कार्यों को पूरी तत्परता, लगन, कर्मठता के साथ पूर्ण किये जायें और कल्याणकारी योजनाओं/नीतियों का लाभ पात्र व्यक्तियों तक पहुंचाया जाये और आम जनमानस की समस्याओं का मिलकर त्वरित निस्तारण किया जाये। मुख्यमंत्री द्वारा वीडियों कान्फ्रेसिंग के दौरान जनपद में संचालित विकास कार्यक्रमों जन कल्याणकारी योजनाओं के सबंध में दिशा निर्देश देते हुए कहा कि योजनाओं जनपद पीलीभीत के जिलाधिकारी पुलकित खरे ने कलेक्ट्रेट परिसर स्थित जिला सूचना एवं विज्ञान केन्द्र (एनआईसी) में वीडियो कान्फ्रेसिंग में सम्मिलित होकर बिन्दुवार जनपद में किये जा रहे अनवरत विकास कार्यों के बारे में मुख्यमंत्री को अवगत कराया ।

मुख्यमंत्री द्वारा 10 करोड से अधिक की परियोजनाओं की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी पुलकित खरे द्वारा अवगत कराया गया कि जनपद मे रू0 90.28 करोड की कुल 05 परियोजनाये निर्माणाघीन है, जिनमें 03 सेतु निर्माण, 01 राजकीय महाविद्यालय एवं एक राजकीय आश्रम पद्वति विद्यालय के निर्माण कार्य सम्मिलित हैं। जिनमें 03 सेतुओं पर निर्माण कार्य तेजी के साथ चल रहा है, जिनमें से 02 सेतुओं का निर्माण माह जून 2021 एवं 01 सेतु का निर्माण कार्य माह दिसम्बर 2021 तक पूर्ण कर लिया जायेगा। उन्होने अवगत कराया कि 11.70 करोड की लागत से निर्माणाधीन राजकीय महाविद्यालय बिलसण्डा का कार्य 98 प्रतिशत पूर्ण करा लिया गया है और माह अक्टूवर 2020 तक कार्य पूर्ण कर लिया जायेगा व 12.72 करोड रू0 की लागत से निर्माणाघीन राजकीय आश्रम पद्वति विद्यालय माधौटांडा के सम्बन्ध में अवगत कराया कि विद्यालय का कार्य 80 प्रतिशत पूर्ण हो गया है। उक्त कार्य का पुनरीक्षित प्राकलन रू0 16.22 करोड का स्वीकृति हेतु अपेक्षित है। स्वीकृति उपरान्त 06 माह में कार्य पूर्ण कर लिया जायेगा।
प्रधानमंत्री आवासीय योजना ग्रामीण की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि इस योजना के अन्तर्गत जनपद में वर्ष 2019-20 हेतु 2622 आवासों का वार्षिक लक्ष्य प्राप्त हुआ था, जिसके सापेक्ष अब तक 2575 आवासों का निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया गया है। शेष आवासों का निर्माण कार्य प्रगति पर है और शीघ्र ही समस्त अवशेष आवास पूर्ण करा लिये जायेगें। इसके पश्चात जनपद में प्रधानमंत्री आवास योजना-नगरीय के सम्बन्ध में प्रगति वताते हुए अवगत कराया कि वर्ष 2019-20 हेतु 9139 आवासों का वार्षिक लक्ष्य प्राप्त हुआ था, जिसके सापेक्ष अब तक 9718 आवासों का निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया गया है।
सड़क निर्माण कार्याे की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि वर्ष 2019-20 में नई सडकों के निर्माण हेतु 71 कार्य स्वीकृति हुए थे जिसके सापेक्ष 30 सडकों का निर्माण कार्य पूर्ण करा लिया गया है शेष सडकों पर कार्य तेजी के साथ कराया जा रहा है चौडीकरण के अन्तर्गत 02 कार्य ( 23.70 किलोमीटर) स्वीकृत हुए थे, जिसके सापेक्ष 20.50 किलोमीटर लम्बाई का कार्य पूर्ण कर लिया गया है शेष कार्य प्रगति पर है। पेयजल योजना की समीक्षा के दौरान घर घर जल योजना के सबंध में अवगत कराया गया कि 15 पाइप पेयजल योजनाओं पर कार्य कराया जाना है जिसमें 11 परियोजनाओं पर काम प्रारम्भ कर दिया गया है शेष योजनाये टेण्डर प्रक्रिया में हैं। स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के अन्तर्गत जनपद में 166305 शौचालय एस0बी0एम0, 54874 शौचालय एल0ओ0बी0 के समस्त कार्य पूर्ण कर लिए गये हैं एवं एन0ओ0एल0बी0 के अन्तर्गत स्वीकृत शोैचालय भी पूर्ण करा लिये गये हैं। एन0ओ0एल0बी0 में जियोटैगिंग एवं फोटो अपलोड कार्य प्रगति पर है। स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के अन्तर्गत सामुदायिक शोैचालय निर्माण के सबंध में समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि जनपद की कुल 721 ग्राम पंचायतों में से 697 ग्राम पंचायतों में कार्य प्रारम्भ करा दिया गया है, जिनमें से 27 पूर्ण कर लिये गये है तथा अवशेष 670 का कार्य तेजी के साथ निर्माणाधीन हैं। स्वच्छ भारत मिशन नगरीय के अन्तर्गत प्राप्त लक्ष्य 9053 शौचालय निर्माण के सापेक्ष शत प्रतिशत शौचालय पूर्ण कर लिये गये हैं तथा सामुदायिक शौचालय के अन्तर्गत लक्षित 173 सामुदायिक शौचालय का कार्य पूर्ण कर लिया गया है तथा सार्वजनिक शौचालय के अन्तर्गत प्राप्त 189 शौचालय निर्माण के सापेक्ष 112 शौचालयों का निर्माण पूर्ण कर लिया गया तथा अबशेष 77 निर्माणाधीन हैं शीघ्र ही पूर्ण कर लिये जाऐगें।
मुख्यमंत्री ने सांसद विकास निधि व विधायक विकास निधि के योजना के अन्तर्गत जनपद में कराये गये कार्यो की समीक्षा के दौरान निर्देशित किया गया इन कार्यों को प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण कराया जाय। इस दौरान जिलाधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि 16वीं लोकसभा के अन्तर्गत सांसद मेनका संजय गांधी की सांसद निधि से 649 कार्यो की स्वीकृत के सापेक्ष 626 कार्य पूर्ण कर लिये गये हैं तथा 17वीं लोकसभा में सांसद वरूण गांधी लोकसभा क्षेत्र की सांसद निधि अब तक स्वीकृत 44 कार्यो के सापेक्ष 25 कार्य पूर्ण कर लिये गये हैं शेष कार्य प्रगति पर हैं। विधायक विकास निधि योजना के अन्तर्गत विधान सभा क्षेत्र पीलीभीत के लिए विधायक निधि से स्वीकृत 40 कार्यो के सापेक्ष 28 कार्य, विधानसभा क्षेत्र बरखेडा में स्वीकृत 99 कार्यो के सापेक्ष 76 कार्य, विधानसभा क्षेत्र पूरनपुर में 96 कार्यो की स्वीकृति के सापेक्ष 54 कार्य व विधानसभा क्षेत्र बीसलपुर में स्वीकृत 39 कार्यो के सापेक्ष 26 कार्य पूर्ण करा लिये गये हैं अवशेष सभी कार्य शीध्र पूर्ण करा लिये जायेगें। महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारन्टी योजना की समीक्षा के दौरान माह अगस्त 2020 तक लक्षित मानव दिवस 15.79 लाख के सापेक्ष 26 लाख मानव दिवस सृजित किये गये हैं जो लक्ष्य का 165 प्रतिशत है। कोरोना काल के दौरान अधिक से अधिक प्रवासी मजदूरों को मनरेगा योजना के तहत रोजगार उपलब्ध कराया गया। जनपद में कर एवं करेत्तर राजस्व संग्रह के अन्तर्गत विभिन्न विभागों के माध्यम से माह तक रू0 30438.35 लाख का संग्रह किया जाना था जिसके सापेक्ष माह तक रू0 17267.81 लाख का संग्रह किया गया है जो लक्ष्य का 57 प्रतिशत है। जिलाधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि जनपद में खाद, बीज व अन्य उर्वरकों की कोई कमी नही है। मुख्यमंत्री द्वारा निर्देशित किया गया कि कोरोना संक्रमण के प्रभावी रोकथाम हेतु सर्विलांस टीम को अधिक से अधिक सक्रिय किया जाये तथा कोरोना सम्बन्धित स्वास्थ्य सेवाओं में किसी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये। मुख्यमत्री द्वारा विकास कार्यो हेतु त्वरित गति देने हेतु नोडल अधिकारी नियुक्त करते हुए भौतिक सत्यापन कराकर अवशेष धनराशि यू0सी0 शासन स्तर पर भेजकर लगातार पत्राचार करने हेतु निर्देशित किया गया इसके साथ ही साथ बरेली मण्डल कृषि प्रधान क्षेत्र होने के कारण गन्ना भुगतान कराने हेतु सम्बन्धित चीनी मिलो से समन्वय स्थापित कर कराने के निर्देश दिये। पेयजल योजनाओं के संचालन हेतु ग्राम समितियों से जोडने व गौ स्थलों को कृषि प्रधान क्षेत्र के दृष्टिगत बढाने के निर्देश दिये गये तथा मा0 जनप्रतिनिधियों द्वारा दिये गये प्रस्ताव प्राथमिकता से संज्ञान लेते हुए शुभ कार्य करने के निर्देश प्रशासन को दिए गए।

वीडियो कांफ्रेसिंग के दौरान विधायक बीसलपुर अगयश रामसरन वर्मा, विधायक सदर संजय सिंह गंगवार, विधायक बरखेड़ा किशनलाल राजपूत, विधायक पूरनपुर बाबूराम पासवान, सांसद प्रतिनिधि, जिलाधिकारी पुलकित खरे, मुख्य विकास अधिकारी श्रीनिवास मिश्र, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 सीमा अग्रवाल, अपर जिलाधिकारी (वि./रा.) अतुल सिंह सहित अन्य अधिकारीगण एवं जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!