लोकसभा में अनुराग ठाकुर के खिलाफ प्रयोग किए गए आपत्तिजनक बयान को लेकर वित्तमंत्री ने कांग्रेस संसदीय दल के नेता पर साधा निशाना

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में अनुराग ठाकुर के खिलाफ प्रयोग किए गए आपत्तिजनक बयान को लेकर कांग्रेस संसदीय दल के नेता अधीर रंजन चौधरी पर निशाना साधा है । उन्होंने कहा कि सभी लोग आज अनुराग ठाकुर के हार्ड वर्क की वजह से ही संसद पहुंचे हैं और लोगों का विश्वास जीत सके हैं । अगर आप किसी के बयान से सहमत नहीं है तो आप सभापति से उस शब्द को हटाने को कह सकते हैं। लेकिन किसी सीनियर सदस्य के द्वारा केंद्रीय वित्‍त राज्‍य मंत्री के लिए ‘बच्चा’ या ‘छोकरा’ शब्द का प्रयोग करना ठीक नहीं है ।

सीतारमण ने कहा कि आज लोग पीएम केअर्स फंड में पारदर्शिता की बात कर रहे हैं, जो रजिस्टर्ड है। लेकिन क्या उन्हीं लोगों ने पीएम नेशनल रिलीफ फंड बनाते हुए पारदर्शिता का ख्याल रखा था, जो अब तक रजिस्टर्ड नहीं है। विपक्ष, खासकर कांग्रेस के पास यह अधिकार नहीं है कि वो पीएम केअर्स फंड को लेकर सवाल खड़े करें ।

इससे पहले शुक्रवार को लोकसभा में पीएम केअर्स फंड पर हंगामा हो गया । सत्ता पक्ष और विपक्ष के सांसदों ने एक दूसरे के खिलाफ नारेबाजी की। इस दौरान कांग्रेस के सांसद अधीर रंजन चौधरी ने वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर पर आपत्तिजनक टिप्पणी कर दी।हंगामे के कारण लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने सदन की कार्यवाही को आधे घंटे के लिए स्थगित कर दिया ।

दरअसल, इस पूरे हंगामे की शुरुआत अनुराग ठाकुर के एक बयान से होती है । अनुराग ठाकुर सदन में पीएम केअर्स फंड का हिसाब दे रहे थे । उन्होंने गांधी परिवार का जिक्र किया और उन नामों को उजागर करने की धमकी दी, जिन्हें पीएम राष्ट्रीय राहत कोष से लाभ मिला । विपक्ष के सांसदों ने उनके इस बयान का विरोध किया । अनुराग ठाकुर की ओर से गांधी परिवार का नाम लेते ही विपक्ष के सांसदों ने हंगामा शुरू कर दिया । विपक्ष के सांसदों ने अनुराग ठाकुर से माफी की मांग की ।

सदन में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने अनुराग ठाकुर पर आपत्तिजनक टिप्पणी की ।

वहीं, विपक्षी सांसद अनुराग ठाकुर से माफी की मांग पर अड़े रहे। सांसदों ने नारेबाजी की । हंगामे के कारण लोकसभा की कार्यवाही बार-बार स्थगित करनी पड़ी थी ।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!