जीएसटी सर्वे के विरोध में उद्योग व्यापार मंडल ने उपायुक्त वाणिज्य कर को सौंपा ज्ञापन

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । आज उ0प्र0 उद्योग व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष राजेश गुप्ता की अगुवाई में व्यापारियों ने उपायुक्त वाणिज्य कर से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन के माध्यम से व्यापारियों ने कमिश्नर वाणिज्य कर के सर्वे छापे के आदेश का विरोध जताया तथा इसे तत्काल वापस लेने की माँग की।

वक्ताओं ने कहा कि “उ0प्र0 उद्योग व्यापार मण्डल 1980 से बिक्री कर के सर्वे का विरोध, वैट के सर्वे का विरोध और अब जी0एस0टी0 के सर्वे का विरोध कर रहा है। हमने इन वर्षों में यह प्रमाणित कर दिया है कि सर्वे से विभाग का राजस्व नहीं बढ़ता है और इसी आधार पर जनरल सर्वे और विशेष अनुसंसाधन सर्वे के शाखाओं पर तमाम सरकारो ने रोक लगा दि थी जिसका गजट नो टिफिकेशन भी जारी कर दिया था। 1 जुलाई 2017 में जी0एस0टी0 लगा तब से वो प्रत्येक वर्ष बढ़ाकर राजस्व दे रहे हैं और कोई सर्वे भी नही हो रहा है। व्यापारी अपनी इमानदारी का परिचय दे रहा है लेकिन कमिश्नर वाणिज्य कर के आदेश पढ़ कर के हम व्यापार मण्डल के सभी पदाधिकारियों को आश्चर्य हुआ कि उन्होंने न केवल एस0बी0आई0 का सर्वे करने का आदेश दिया है बल्कि प्रत्येक यूनिट को 10 सर्वे करने का कोटा भी निर्धारित कर दिया, यह आज प्रजातांत्रिक और अव्यवहारिक आदेश है। पिछली किसी भी सरकार या अधिकारी के द्वारा सर्वे का कोटा नहीं निर्धारित हुआ है व्यापार मण्डल 1980 से निरन्तर सर्वे का पक्षदार नहीं है सर्वे से सरकार का राजस्व नहीं बढ़ता अपितु अधिकारियों के जेब का राजस्व जरूर बढ़ जाता है। यहीं कारण है कि पिछली सरकारों व अधिकारियों द्वारा सर्वे का कोई आदेश प्रसारित नहीं किया गया था।”

वक्ताओं ने कहा कि “सर्वे करने से विभाग और व्यापारियो के बीच मे असंतोष भी बढ़ता है और आपसी समन्वय भी बिगड़ जाता है। वर्तमान समय मे विभाग और व्यापारियों के बीच मे समन्वय वादी विचार धारा चल रही है। व्यापार मण्डल हर प्रकार के सर्वे का विरोध निरन्तर कर रहा है अगर इस विभाग के सर्वे का विरोध करते है तो अपने व्यापारी समाज को भी इस बात के लिए बाध्य करते है कि वो बिना पर्चे के व्यापार न करें और इसी आधार पर सरकार का राजस्व प्रत्येक वर्ष बढ़कर आता है। इस वर्ष राजस्व कुछ कम आया होगा क्योकि लॉकडाउन के कारण कारोबार और दुकानें पूर्णतः बन्द रही है।”

उ0प्र0 उद्योग व्यापार मंडल ने माँग करते हुए कहा कि इस आदेश को तत्काल वापस लिया जाय क्योकिं व्यापार मण्डल के निर्णय के अनुसार व्यापारी सर्वे नहीं कराएगा और अधिकारी सर्वे करेंगे तो विवाद कि स्थिति उत्पन्न होगी।

इस दौरान जिलाध्यक्ष राजेश गुप्ता, राजेश बंशल, संदीप सिंह चंदेल, सुरेश केशरी, प्रकाश केशरी तथा अजय केशरी मौजूद रहे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!