अनलॉक में तस्करी का खेल हुआ तेज, शराब व पशु तस्करी का धंधा चालू, आए दिन पकड़े जा रहे तस्कर

मनोहर कुमार (संवाददाता)

मुगलसराय। कोरोना वायरस के संक्रमण के फैलाव व प्रभाव को रोकने के लिए किए गए लॉक डाउन में सभी गतिविधियों पर विराम लगा गया था। तस्करी का धंधा बन्द रहा।आर्थिक गतिविधियों को बढाने के लिए धीरे धीरे अनलॉक की प्रक्रिया शुरू हुई तो तस्करी का गोरखधंधा एक बार फिर चल निकला है। बिहार यूपी की सीमा पार करने से पहले ही कितने तस्कर पुलिस के हत्थे आ रहे हैं। शराब बरामदगी के साथ तस्कर गिरफतार हो रहे हैं।
कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए केंद्र सरकार ने 25 मार्च से लॉक डाउन किया था। दो महीने तक कड़ाई से लॉक डाउन का पालन किया गया।इस दौरान सभी गतिविधियों पर विराम लगा था।परिवहन साधनों के बन्द होने से लोगों की आवाजाही बी बन्द थी।आर्थिक गतिविधियों को बढाने के लिए धीरे धीरे अन लॉक किया जाने लगा। जैसे जैसे अनलॉक का फेज बड़ा व हर चीजे गाइड लाइन के जरिए खोली जाने लगी।वैसे वैसे तस्करी का खेल भी शुरू हो गया। बिहार में शराब बन्दी के कारण तस्करों को इस समय खूब मुनाफा समझ मे आ रहा है। मवेशियों की तस्करी भी खूब हो रही है। तस्कर विभिन्न वाहनों में शराब लादकर हाईवे से बिहार में दाखिल होने की कोशिश में लगे रहते हैं।पुलिस की मुस्तैदी से बार्डर पार नहीं हो पा रहे हैं। सैदराजा थाने की पुलिस ने सितम्बर माह के प्रथम पखवारे में अगस्त माह में शराब की खेप पकड़ी व तस्करों को गिरफतार किया। 27 अगस्त को एक कार से 37 पेटी शराब बरामद किए व 10 सितम्बर को स्कॉर्पियो से चौतीस पेटी शराब बरामद किया।12सितम्बर को सात पेटी शराब के साथ दो तस्करों को गिरफतार किया। वहींअलीनगर थाने की पुलिस ने गुरुवार को एक पिकप से 45 पेटी शराब बरामद किया। वहीं मवेशियों की तस्करी भी खूब हो रही है।आए दिन पुलिस की पकड़ में आ रहे हैं।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!