102 एंबुलेंस में गूंजी किलकारी, जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । कोरोना जैसे महामारी के चलते पूरा देश इस महामारी के संकट से जूझ रहा है। वहीं इस संकट के दौर में एंबुलेंस कर्मियों द्वारा कोरोना वाॅरियर्स की भूमिका निभाई जा रही है। अपनी जान को जोखिम में डालकर और कम दायरे में रहकर एम्बुलेंस कर्मचारी उपचाराधीन और गर्भवती महिलाओं को निःशुल्क सेवाएं प्रदान कर रहे हैं।

ताजा मामला आज शाम का है, जब रॉबर्ट्सगंज विकास खंड क्षेत्र के होना गांव की संगीता देवी (22वर्ष) गर्भवती महिला को अचानक घर पर प्रसव पीड़ा होने लगी। जिस पर उसके परिजनों ने 102 नं0 डायल कर एम्बुलेंस कर्मी योगेंद्र कुमार को सूचित किया। प्रसव पीड़ित महिला को 102 एम्बुलेंस की मदद से जिला संयुक्त चिकित्सालय में भर्ती के लिए ले जाया ही जा रहा था। तभी रास्ते में प्रसव पीड़ा बहुत बढ़ गई। एम्बुलेंस चालक अश्विनी पांडेय ने गर्भवती महिला व उसके गर्भ में पल रहे बच्चे की नाजुक हालत देखकर आनन-फानन में ईएमटी की मदद से एम्बुलेंस में ही गर्भवती महिला का उपचार किया और सुरक्षित प्रसव कराया। प्रसव कराने के बाद नवजात शिशु बिल्कुल स्वस्थ था। इसके बाद एम्बुलेंसकर्मियों ने गर्भवती मां व नवजात शिशु को जिला संयुक्त चिकित्सालय में भर्ती कराया।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!