सामुदायिक शौचालय निर्माण में रुचि न लेने वाले सचिवों पर होगी कड़ी कार्यवाही : डीपीआरओ

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

● डीपीआरओ ने ग्रामीण क्षेत्रों में निर्माणाधीन सामुदायिक शौचालयों का किया निरीक्षण

● सामुदायिक शौचालय निर्माण में ग्रामीणों को मिल रहा काम

● गुणवत्ता खराब मिली तो होगी कार्यवाही

● केकराही सामुदायिक शौचालय के निरीक्षण में गंदगी मिलने पर भड़के डीपीआरओ

● सफाईकर्मी को दी कड़ी चेतावनी

● जिले में 673 सामुदायिक शौचालयों का होना है निर्माण

अब तक 112 सामुदायिक शौचालय हो चुके हैं पूर्ण जबकि 462 पर निर्माण कार्य हो चुका है प्रारम्भ

सोनभद्र । स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत निर्मित हो रहे सामुदायिक शौचालय को गुणवत्तापूर्ण समय से पूर्ण करने के लिए आज जिला पंचायत अधिकारी विशाल सिंह ने ग्राम पंचायत मंगूराही और मदार में निर्माणाधीन सामुदायिक शौचालयों का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान डीपीआरओ विशाल सिंह ने संबंधितों को निर्देशित किया कि निर्माणाधीन सामुदायिक शौचालय की गुणवत्ता उच्च स्तरीय होनी चाहिए एवं सामुदायिक शौचालय में महिला एवं पुरुष के लिए दरवाजे विपरीत दिशा में खुले तथा इसमें रैम्प भी बनाए जाएं साथ ही सामुदायिक शौचालय में रोशनदान की पर्याप्त व्यवस्था हो जिससे कि धूप एवं हवा आ सके। उन्होंने महिला कंपार्टमेंट में इंसीनरेटर की भी व्यवस्था सुनिश्चित कराने हेतु सचिव, ग्राम प्रधान, एडीओ पंचायत रॉबर्ट्सगंज को निर्देशित किया।

वहीं नवनिर्मित सामुदायिक शौचालय केकराही के निरीक्षण के दौरान जिला पंचायत अधिकारी ने सामुदायिक शौचालय के यूरिनल में सफाई ठीक से ना होने पर सफाई कर्मी को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि यदि निरीक्षण में सामुदायिक शौचालय गंदा पाया गया तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

जिला पंचायत अधिकारी विशाल सिंह ने बताया कि “जनपद में 673 सामुदायिक शौचालयों का निर्माण कार्य होना है और अभी 462 पर निर्माण कार्य शुरू हो गया है जबकि 112 सभी विकास खंडों में सामुदायिक शौचालय पूर्ण हो गए हैं जिसकी जियो टैगिंग कराई जा रही है। उन्होंने सभी सहायक विकास अधिकारी (पंचायत) को निर्देशित किया कि प्रतिदिन सामुदायिक शौचालयों का निरीक्षण कर अपनी रिपोर्ट को शाम को दें। यदि किसी सचिव द्वारा सामुदायिक शौचालय निर्माण रुचि नहीं ली जा रही है तो संबंधित सचिव पर कार्यवाही भी की जाएगी। शासन के द्वारा सामुदायिक शौचालय निर्माण सर्वोच्च प्राथमिकता में है, इसलिए प्रतिदिन निरीक्षण किया जाएगा एवं कार्य शुरू न मिलने पर ग्राम पंचायतों पर कार्यवाही भी की जाएगी।”

निरीक्षण के दौरान ग्राम प्रधान मांगुराही, ग्राम प्रधान मदार, ग्राम प्रधान के केकराही, सचिव अखिलेश सिंह एवं संजय सिंह तथा विकासखंड रॉबर्ट्सगंज के सहायक विकास अधिकारी पंचायत चंद्रकांत देव पांडेय मौजूद रहे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!