फ़िल्म अभिनेत्री कंगना रनौत के समर्थन में भारशिव नागवंशी क्षत्रिय महासभा ने भरी हुंकार, कहा बहन, बेटी और नारी का अपमान बर्दास्त नहीं

अबुलकैश डब्बल ब्यूरो

चंदौली। अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की संदिग्ध मौत की जाँच में कई राज उजागर हो रहे है। इन राज को उजागर करने वाली बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत ही है। जिन्होंने ड्रग कनेक्शन के बारे में जानकरी सार्वजनिक की। इसी के बाद से कंगना महाराष्ट्र की शिवसेना के निशाने पर चढ़ गई है और बदले की भावना से महाराष्ट्र सरकार उनका उत्पीड़न करने में कोई कोर कसर नही छोड़ रही है। शिवसेना द्वारा यह घिनौना कृत्य की भारशिव नागवंशी क्षत्रिय महासभा कड़ा विरोध करता है और देश की बेटी कंगना के साथ खड़ा है। यह उक्त विचार गुरुवार को भारशिव नागवंशी क्षत्रिय महासभा की हुई राष्ट्रीय कार्यकारिणी की आपात बैठक को सम्बोधित करते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष कैलाश नाथ राय ने व्यक्त किया। श्री राय ने स्पष्ट किया कि शिवसेना की दादागिरी बर्दास्त नहीं किया जाएगा। भारत का क्षत्रिय जब तक जिंदा रहेगा तब तक भारतीय संस्कृत, सभ्यता, सनातन धर्म और नारी सम्मान पर आंच आने नहीं देगा। इसके लिए यदि जरूरत पड़ी तो क्षत्रिय समाज का एक-एक नौजवान मुँह तोड़ जबाव देने के लिए तैयार रहेगा। इस मौके पर राणा विजय ने कंगना रनौत को बहादुर बेटी की उपाधि देते हुए कहा कि उद्धव ठाकरे के दिमाग मे सामन्ती मानसिकता की विकृति आ गयी है। जिसे ठीक करने का काम क्षत्रिय समाज करेगा। फ़िल्म अभिनेत्री का मकान तोड़ना और उत्पीड़न करना तुगलकी कार्यनामा है। इसलिए संविधान को मानते हुए नैतिक आधार पर ठाकरे को इस्तीफा दे देना चाहिए। वहीं ठाकुर प्रवीण सिंह ने आक्रोश जताते हुए कहा कि शिवसेना प्रमुख और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की ही मुम्बई नहीं है। यह भारत के एक-एक नागरिक की है। ठाकरे देश की भाषा बोलने के बजाय पाकिस्तान की भाषा बोलना बन्द करें। सीधे कंगना रनौत से माफी मांगने का काम कर ले। इसी में उनकी भलाई है। आगे कहा कि फ़िल्म अभिनेता स्व. सुशांत सिंह राजपूत केस से जोड़कर ठाकरे देख रहे हैं। इसलिए उठ रही हर आवाज को दबाने में लगे हुए हैं। शिवसेना पार्टी के सांसद संजय राउत ने जिस तरह देश की बेटी कंगना रनौत को अपशब्द कहा है। वह गलत ही नही पूरी तरह से सभ्य समाज के लिए निंदनीय है।इस मुद्दे पर देश के सभी क्षत्रिय संगठनों को एक जुट होकर उद्धव ठाकरे को उसी के भाषा में जबाब देने का काम करना चाहिए। बैठक में मनोज राय ने कहा कि जो देश की बेटियों का अपमान करेगा, वह भारत की राजनीति में कही नही रहेगा।

बैठक में मुख्य से भवनाथ सिंह राष्ट्रीय वरिष्ठ उपाध्यक्ष, आर के सिंह राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष, अतुल सिंह राष्ट्रीय महासचिव, उमेश सिंह गहरवार राष्ट्रीय कानूनी सलाकार, शिवचरण सिंह राष्ट्रीय संरक्षक, एस पी मेजर साहब राष्ट्रीय संरक्षक, लालजी राय मीडिया प्रभारी, हरेन्द्र सिंह मीडिया प्रभारी, रामअवतार सिंह, कैप्टन सुरेश सिंह, संजय सिंह, अनूप सिंह गहरवार, नरेन्द्र सिह, मेजर सोमारु सिंह, देवराज सिंह राठौर, पंकज सिंह आदि रहे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!