जिला विकास समन्वय और निगरानी समिति (दिशा) की बैठक एनआईसी सभागार में वर्चुअल माध्यम (गूगल मीट) के द्वारा बैठक सम्पन्न

अबुलकैश (डब्बल) ब्यूरो

चन्दौली। स्थानीय सांसद एवं केन्द्रीय मंत्री कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय भारत सरकार डा0 महेन्द्रनाथ पाण्डेय की अध्यक्षता में जनपद स्तर पर गठित जिला विकास समन्वय और निगरानी समिति (दिशा) की बैठक एनआईसी सभागार में वर्चुअल माध्यम (गूगल मीट) के द्वारा सम्पन्न हुयी। बैठक के दौरान उन्होनें निदेर्शित करते हुये कहा कि नहरों की सिल्ट सिंचाई पर विशेष ध्यान व धनराशी का समुचित उपयोग करने के निर्देश व उनकी निगरानी/सत्यापन कराने के निर्देश जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल को दिये। सासंद ने अधिशासी अधिकारी जल निगम को निदेर्शित करते हुये कहा कि बहादुर व जरखोर पाईप पेयजल योजना का उपयोग ग्रामीणों में स्वच्छ पेयजल के निरन्तर सप्लाई किये जाय। उप निदेशक कृषि को निदेर्शित करते हुये कहा कि कृषि क्षेत्र में अधिक से अधिक किसानों की भागीदारी सुनिश्चित किया जाय। साथ ही कृषि संबंधित योजनाओं का व्यापक प्रचार-प्रसार के लिए टास्क फोर्स टीम का गठन किये जाने का भी निर्देश दियें। उन्होनें कहा कृषि मण्डी एवं अन्य प्रमुख स्थानों पर किसानों से संबंधित कल्याणकारी योजनाओं के बोर्ड लगवायें जाय। मंत्री ने राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के अन्तर्गत वितरण किये जा रहे निशुल्क राशन की जानकारी ली। इस दौरान जिला पूर्ति अधिकारी ने बताया कि जनपद में लगभग तीन लाख 52 हजार लोगों को निशुल्क राशन का वितरण किया जा चुका है। मंत्री जी ने वितरण में पूरी पारदर्शिता लाने के लिए निर्देश दिये। जनपद में कोविड-19 से निपटने संबंधित व्यवस्थाओं एवं किये जा रहे प्रयासों का विस्तृत जानकारी ली। मुख्य चिकित्साधिकारी को निदेर्शित करते हुये कहा कि कोरोना के रोकथाम एवं उपचार संबंधित सभी तैयरियाॅ पूर्ण रखें वेन्टिलेटर सहित अन्य आवश्यक उपकरण एवं दवाइयाॅ की उपलब्धता सुनिश्चित किया जाय। संक्रमितों का समुचित उपचार किया जाय। जननी सुरक्षा योजना दवाओं की उपलब्धता, एम्बुलेंस आदि की समीक्षा करते हुये आमजन को बेहतर इलाज की सुविधा उपलब्ध कराने के निर्देश मुख्य चिकित्साधिकारी को दिये। खराब सड़कों को तत्परता से ठीक कराने ओवरलोड वाहनों की समस्या एवं जाम की समस्या को दूर करने का निर्देश दिये। बारिस में क्षतिग्रस्त सड़कों का इस्टीमेट बनाकर शीघ्रताशीघ्र शासन को भेजना व उनको ठीक कराने की कार्यवाही के निर्देश दिये। राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम के तहत कल्याणकारी योजनाओं को जनपद में समुचित ढंग से लागू करने के निर्देश दिये। उन्होनें कहा कि ग्राम पंचायतों में पंचायत भवन एवं सामुदायिक शौचालयों के निर्माण कार्य समयसीमा के साथ गुणवत्तापूर्ण ढंग से कराये जाय। जर्जर तारों को ठीक कराने एवं टार्सफार्मरों की क्षमतावृद्धि के प्रपोजल बनाकर भेजने के निर्देश दिये। इसमें मा0 जनप्रतिनिधियों से सम्पर्क कर उनसे भी प्रपोजल लेनें के निर्देश दिये। अधिशासी अभियन्ता नलकूप को कार्यशैली में सुधार लाने के कड़ें निर्देश दिये कहा अन्यथा कठोर कार्यवाही के लिए तैयार रहने की चेतावनी दी। किसानों को उचित दर पर यूरिया खाद्य की उपलब्धता सुनिश्चित किया जाय। इसमें कही भी कालाबाजारी की शिकायत नही मिलनी चाहिए। सिंचाई विभाग द्वारा निर्मित सड़कों की गुणवत्ता की जाॅच कराये जाने के निर्देश दिये। मा0 मत्री जी ने राज्य पोषण मिशन कार्यक्रम, कन्या सुमंगला योजना के व्यापक प्रचार-प्रसार कराये जाने की आवश्यकता पर बल दिया। इसके साथ ही बैठक के दौरान मनरेगा, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, दीन दयाल उपाध्याय कौशल विकास योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी एवं ग्रामीण पर भी विस्तृत चर्चा एवं समीक्षा की गयी एवं मा0 मत्री जी द्वारा संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। अन्त में जिलाधिकारी श्री नवनीत सिंह चहल ने अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि मंत्री द्वारा दिये गये निर्देशों का पालन समयबद्ध ढंग से किया जाय। लापरवाही बरतने वाले के खिलाफ विभागीय कार्यवाही सुनिश्चित होगी।
गूगल मीट के माध्यम से हुयी बैठक के दौरान मा0 सैयदराजा विधायक सुशील सिंह, पीडीडीयू नगर विधायिका साधना सिंह, चकिया विधायक शारदा प्रसाद, पुलिस अधीक्षक हेमन्त कुटियाल, मुख्य विकास अधिकारी डा0 अभय कुमार श्रीवास्तव, अपर जिलाधिकारी अतुल कुमार, जिलाध्यक्ष भाजपा अभिमन्यु सिंह ,सम्मानित सदस्य गण सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!