कोरोना काल में राजनीतिक दल अपने को कर रहे मजबूत

मनोहर कुमार (संवाददाता)

संगठन को मजबूत बनाने पर जोर,सदस्यता अभियान में आई तेजी ,आंदोलनों के जरिए बना रहे पैठ

मुगलसराय। कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने व इस पर प्रभावी नियन्त्रण के लिए किए गए तीन महीने के कड़े लॉक डाउन से राजनीतिक गतिविधियां ठप रही। आर्थिक गतिविधियों को गति देने के लिए अनलॉक शुरू किया गया। इसके साथ ही सारी चीजों से पर्दे उठने लगे।राजनीतिक दल अपनी योजनओं को मूर्त रूप देने व संगठन को मजबूत बनाने के साथ आंदोलनों को धार देकर जनता में पैठ बनाने लगे हैं।धान के कटोरे के रूप ख्यातिलब्ध चन्दौली जनपद में कोरोना काल राजनीतिक सक्रियता बड़ने लगी है।
इस समय विश्व के अधिकांश देश कोरोना संक्रमण से प्रभावित है।विश्व में इस संक्रमित केसों की संख्या दो करोड़ सत्तर लाख के करीब पहुंच गई है।भारत में यह संक्रमण इकतालीस लाख के आसपास दौड़ रही है।उत्तर प्रदेश में दो लाख साठ हजार के करीब है तो जनपद चन्दौली में इक्कीस सौ मामले सामने आए हैं। संक्रमण के फैलाव को रोकने लिए देश में 25 मार्च से लॉक डाउन किया गया था।लॉक डाउन के दौरान सारी गतिविधियों पर विराम लग गया था। राजनीतिक खेल भी बन्द हो गए थे।सभी अपने घरों में कैद रहे।धीरे धीरे अनलॉक होने के बाद राजनीतिक अभियान शुरू हो गए।पहले वर्चुयल रैली की शुरुआत हो गई।इसके राजनीितक दल सरकार को घेरने में लग गए। इसके साथ अपराध का ग्राफ भी बड़ने लगा। राजनीति गरम होने लगी।खाद पानी की समस्या सामने आयी तो किसानों के लिए राजनीतिक दल खड़े होने लगे। इसके बाद राजनीतिक सक्रियता आऊर सामने आ गई। राजनीतिक दल संगठन को मजबूत बनाने लिए आभियान शुरू कर दिए हैं। पदाधिारियों का चयन व मनोनयन की जा रहा है। पार्टी नेतृत्व के संदेशों,उद्देश्यों,लक्ष्यों को पूरा करने के जिम्मेदारी भी उठा रहे हैं।सदस्यता अभियान से लेकर आंदोलन का कार्य चल रहे हैं।जनपद में एक बार फिर आंदोलनों ने रफ्तार पकड़ ली है।कोराना संक्रमण काल में राजनीतक खेल शुरू हो गया है।हालांकि आंदोलन के दौरान सोसल डिस्तेंसिंग व मास्क का उपयोग में लापरवाही बरती जा रही है।कहीं यह लापरवाही राजनीतिक नुकसान न पहुंचाने लगे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!