सुशांत सिंह राजपूत मौत में ड्रग्स एंगल आने के बाद एनसीबी की रिया चक्रवर्ती से ताबड़तोड़ सवाल, लटक रही गिरफ्तारी की तलवार

रिया चक्रवर्ती NCB के दफ्तर पहुंच चुकी हैं । यहां पर रिया से एक महिला अधिकारी सहित चार अधिकारी पूछताछ कर रहे हैं ।

सुशांत सिंह राजपूत केस की जांच में आज का दिन अहम साबित हो सकता है। सुशांत सिंह राजपूत मामले में ड्रग्स का मामला सामने आने के बाद से नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) पूरी तरह से एक्शन में है। सुशांत सिंह राजपूत केस में आए ड्रग मामले को लेकर एनसीबी ने रिया चक्रवर्ती को आज सुबह समन दिया था, जिसके बाद रिया एनसीबी ऑफिस पहुंच गई हैं। बताया जा रहा है कि एनसीबी के पास कई सबूत है, जिससे साबित होता है कि रिया सुशांत को ड्रग्स दिया करती थी।

दरअसल रिया का भाई शोविक और सुशांत का हाउस मैनेजर सैमुअल मिरांडा पहले ही इस केस में गिरफ्तार हो चुके हैं। जिनकी रिमांड भी NCB को मिल चुकी है। इसके अलावा इसी मामले में सुसांत का घरेलू सहायक दीपेश सावंत की भी शनिवार को गिरफ्तारी हो चुकी है।

दीपेश और सैमुअल ने सुशांत के घर और फार्म हाउस पर होने वाली पार्टियों और उनमें शामिल होने वाले लोगों की पूरी जानकारी एनसीबी को दी है। कौन लोग शामिल होते थे, कौन ड्रग्स लेते थे, ड्रग्स कौन लाता था और कौन सा ड्रग्स इस्तेमाल होता था। इसमें कुछ बॉलीवुड लोगों के नाम भी शामिल हैं।

अब तक कुल सात लोग गिरफ्तार हो चुके हैं। एनसीबी ने कहा कि दीपेश सावंत को शनिवार को रात करीब 8 बजे नार्कोटिक ड्रग्स एंड साइकोट्रोपिक सब्सटेंस (एनडीपीएस) अधिनियम की धाराओं के तहत गिरफ्तार किया गया है। उसका बयान पर्याप्त सबूत के आधार पर एनडीपीएस अधिनियम की धारा 67 के तहत दर्ज किया गया।

NCB की एक टीम बांद्रा और सांता क्रूज़ इलाके में रेड कर रही है. खबर है कि शोविक चक्रवर्ती ने पूछताछ में इन ड्रग्स डीलर के नाम बताए हैं । इसके साथ ही कुछ नाम का खुलासा शोविक चक्रवर्ती के व्हाट्सएप चैट से हुआ है ।

उधर सुशांत सिंह राजपूत की बहन मीतू सिंह को एक बार फिर सीबीआई ने पूछताछ के लिए बुलाया है ।सीबीआई ने मीतू सिंह के साथ एक बार फिर से क्राइम सीन रिक्रिएट किया था । बता दें कि सुशांत सिंह की मौत के बाद मीतू ही उनके घर से सबसे पहले वहां पहुंची थीं ।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!