भारत-चीन सीमा विवाद को लेकर ब्रिगेडियर स्तर की एक और बैठक संपन्न, नतीजा सिफर

भारत और चीन के बीच फिर से बने सीमा विवाद के बीच आज बुधवार को ब्रिगेडियर स्तर की एक और बैठक संपन्न हो गई, हालांकि कोई ठोस नतीजा नहीं निकला । माना जा रहा है कि गुरुवार को फिर से एक और बैठक हो सकती है । सूत्र बताते हैं कि चीन पूरे मामले में जल्द से जल्द समाधान चाह रहा है ।

इससे पहले पूर्वी लद्दाख क्षेत्र में पैंगोंग झील के पास भारत-चीन के सैनिकों के बीच हुई ताजा झड़पों को हल करने के लिए दोनों देशों की सेनाओं के बीच कल मंगलवार को चुशुल में तीसरे दौर की बातचीत शुरू हुई थी। सूत्रों के अनुसार, ब्रिगेड कमांडर स्तर की बातचीत चुशूल में हुई थी।

पिछले महीने 29-30 अगस्त की रात को चीन की ओर से घुसपैठ की जो कोशिश हुई थी, उसके बाद ब्रिगेड कमांडर लेवल की बातचीत शुरू हुई थी । मंगलवार को भी ये बैठक कई घंटों तक चली थीं, लेकिन कोई ठोस नतीजा नहीं निकला । ऐसे में दोनों ओर से बात आगे बढ़ाई जा रही है।

पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे पर दोनों देशों के बीच 3 विवादास्पद क्षेत्र हैं जो विचार-विमर्श का एजेंडा हैं। चीन पिछले कुछ दिनों में 3 बार घुसपैठ की कोशिश कर चुका है जिसे भारतीय जवानों ने नाकाम कर दिया।

चीन की पहली कोशिश 29-30 अगस्त को की गई जब पैंगोंग झील के दक्षिण इलाके में चीन ने घुसपैठ की कोशिश की जिसे भारतीय जवानों ने रोक दिया।

इसके बाद 31 अगस्त की रात को चीन ने एक बार फिर ब्लैक टॉप हिस्से के पास घुसने की कोशिश की ।लेकिन अब इस इलाके में भारतीय सेना मुस्तैद है । कल 1 सितंबर को भी फिर चीन ने चुमार इलाके में आने की कोशिश की, लेकिन फिर भारतीय सेना का दम देखकर उल्टे पांव भाग निकले ।

भारत ने ब्लैक टॉप और हेल्मेट टॉप के पास के इलाकों में चीनी सेना की तैनाती को लेकर भी चिंता जताई है । भारतीय सैनिकों ने पहाड़ी चोटियों को अपने अधिकार में ले लिया जबकि चीनी सेना चाहती है कि वे पीछे हट जाएं । दोनों पक्षों के बीच सोमवार को भी पांच घंटे तक बातचीत हुई ।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!