अर्पण,तर्पण,और समर्पण से जीवन में प्राप्त होगी सुख और शांति-भवानीनन्दन यति

फ़ैयाज़ खान मिस्बाही(ब्यूरो)

ग़ाज़ीपुर। स्थानीय तहसील जखनियां स्थित सिद्धपीठ हथियाराम गाजीपुर में चल रहे धार्मिक अनुष्ठान चातुर्मास का हवन पूजन के साथ आज समापन हुआ।सिद्धपीठ की परंपरा के अनुसार पीठासीन महन्थ स्वामी भवानीनन्दन यति महाराज के सानिध्य और संरक्षकत्व में प्रति वर्ष वैदिक रीति से यह आयोजन होता है।सनातन परंपरा को मानने वाले मठ के अनुयायियों ने कोरोना प्रोटोकाल का अनुपालन करते हुए इस कार्यक्रम में भाग लिया।अतीत काल से ही वर्षा ऋतु के आरम्भ होने पर सन्त वृन्द परिभ्रमण बंद करने एक स्थान पर रुक कर साधना किया करते थे और भादों पूर्णिमा के बाद आवागमन प्रारम्भ करते थे।आध्यात्मिक मंच से अपने संछिप्त और सारगर्भित उद्बोधन में महन्थ ने कहा कि जीवन मे अर्पण, तर्पण, और समर्पण के महत्व को समझते हुए कार्यों का निष्पादन करना चाहिए।ईश्वरानुरागी व्यक्ति कार्य आरम्भ करने से पूर्व ईश्वर को समर्पित करके प्रत्येक कार्य की शुरुवात करता है।परमपिता के स्मरण से कार्य सिद्धि का संदेह मिट जाता है।कल से पितृपक्ष आरम्भ हो रहा है और हमें अपने पुरखों का तर्पण भी करते रहना चाहिए।इससे सुख शांति और समृद्धि प्राप्त होती है।पंचांग के अनुसार श्रावण और भादों मास में यह विशिष्ट शिवार्चन का कार्यक्रम अनवरत चलता है जिसमे पार्थिव शिवलिंग का निर्माण और रुद्राभिषेक किया जाता है और इस विधि से होने वाला आराधन चातुर्मास के रूप में जाना जाता है।भगवान शिव लोकतांत्रिक देवता के रूप में जगत विख्यात हैं।लोककल्याण की दृष्टि से किया गया यह अनुष्ठान फलदायी होता है।कन्या महाविद्यालय हथियाराम के प्राचार्य डॉ. रत्नाकर त्रिपाठी ने मठ के गौरवशाली अतीत की विशद चर्चा के साथ महाराज जी के मार्गदर्शन में हो रहे विकास पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से जंगीपुर विधायक वीरेंद्र यादव,गाजीपुर सांसद प्रतिनिधि ,जिलापंचायत सदस्य रमेश यादव,पूर्व ब्लाक प्रमुख लुट्टूर राय, वरिष्ठ भाजपा नेता सन्तोष यादव ,आरएसएस जिला कार्यवाह डॉ. नागेंद्र सिंह आदि प्रमुख रूप से उपस्थित थे।महाराज ने प्रान्त प्रचारक राम सिंह जी की माता जी ,विभाग कार्यवाह आनंद मिश्र एवं जिलाप्रचारक कमलेश जी एवं अनुष्ठान में सहयोगी रहे वैदिक विद्वानों और स्वयंसेवकों को आशीर्वाद स्वरूप अंगवस्त्र भेंट किया।कार्यक्रम को भुड़कुड़ा महाविद्यालय में अंग्रेजी के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. सन्तोष कुमार मिश्र ने भी सम्बोधित किया। कार्यक्रम के अंत मे पूर्व ब्लाक प्रमुख सन्तोष यादव ने गुरु की महिमा का बखान करते हुए अतिथियों के प्रति आभार ज्ञापित किया।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!