अधिक से अधिक आम जनमानस को ई-संजीवनी ऐप कराया जाये अपलोड- जिलाधिकारी

दीनदयाल शास्त्री (ब्यूरो)

पीलीभीत । जिलाधिकारी पुलकित खरे की अध्यक्षता में सोमवार को कोरोना वायरस संक्रमण के प्रभावी रोकथाम एवं उपचार के सम्बन्ध में स्वास्थ्य विभाग व नामित नोडल, पर्यवेक्षण अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक गांधी सभागार कलेक्ट्रेट में सम्पन्न हुई। बैठक के दौरान जिलाधिकारी द्वारा होम आईसोलेशन माॅनीटिरिंग टीम, टेस्टिंग कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग माॅनीटिरिंग टीम, एल वन व एल टू फैसिलिटी सहित अन्य महत्वपूर्ण बिन्दुओ पर गहनता से समीक्षा की गई। बैठक में सर्विलांस टीम व टेस्टिंग के कार्यों की समीक्षा के दौरान पर्यवेक्षण अधिकारी एआर कोऑपरेटिव व अन्य पिछडा वर्ग कल्याण अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि सर्विलांस टीमों द्वारा सर्वेक्षण के दौरान लक्षणयुक्त पाए गए, समस्त व्यक्तियों की टेस्टिंग करा दी गई है और प्रतिदिन टीमों द्वारा डोर टू डोर सर्वेक्षण अभियान संचालित किया जा रहा है। इस दौरान जिलाधिकारी द्वारा समस्त उप जिलाधिकारियों को निर्देशित किया कि सर्विलांस टीम के सदस्य लेखपालों को भी कन्टेक्ट ट्रेसिंग के सम्बन्ध में आरआर टीम का सहयोग प्रदान किया जाये। बैठक में जिलाधिकारी द्वारा चिकित्साधिकारियों को निर्देशित किया कि निजी अस्पतालों में ओपीडी के तहत प्रतिदिन आने वाले मरीज जो बुखार, जुखाम से पीडित है उनकी सूची प्राप्त कर सम्बन्धित निगरानी समिति द्वारा सर्वेक्षण कर कोरोना टेस्टिंग कार्य कराया जाये।
बैठक में जिलाधिकारी द्वारा एल वन व एल टू फैसिलिटी में प्रतिदिन उपलब्ध कराई जाने वाली सुविधाओं के निरीक्षण हेतु नामित नोडल अधिकारी नगर मजिस्ट्रेट व मुख्य विकास अधिकारी द्वारा निरीक्षण कार्यो की समीक्षा की गई इस दौरान नगर मजिस्ट्रेट द्वारा अवगत कराया गया कि सभी व्यवस्थाएं ठीक-ठाक पाई गई। निरीक्षण के दौरान भोजन की गुणवत्ता एवं मात्र की जांच की गई और संबंधित को निर्देशित किया गया कि सभी मरीजों को पर्याप्त मात्रा में समय से भोजन उपलब्ध कराया जाए।
बैठक में होम आईसोलेशन की समीक्षा के दौरान मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया कि समस्त एमओआईसी के द्वारा यह सुनिश्चित किया जाए। होम आइसोलेट व्यक्ति के पास अनिवार्य रूप से उपलब्ध होनी चाहिए और साथ ही साथ उसके मोबाइल में होम आइसोलेट एप अनिवार्य रूप से अपलोड किया जाना सुनिश्चित किया जाए तथा कंट्रोल रूम से प्रतिदिन वार्ता के दौरान यदि किसी व्यक्ति का फोन नंबर बंद आता है तो संबंधित एम ओ सी टीम भिजवा कर जांच करना सुनिश्चित करेंगे।
जिलाधिकारी द्वारा डाटा फीडिंग संबंधी कार्यों की समीक्षा के दौरान डीपीएम को निर्देशित करते हुए कहा कि आरआर टीम के माध्यम ई संजीवनी ऐप को प्रत्येक टीम द्वारा रोज कम से कम पांच व्यक्तियों में ऐप अपलोड कराना सुनिश्चित किया जाये और साथ ही साथ आरोग्य सेतु ऐप को भी अधिक से अधिक लोगों को अपलोड कराया जाये।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी श्रीनिवास मिश्र, अपर जिलाधिकारी (वि./रा.) अतुल सिंह, अपर जिलाधिकारी (न्यायिक) देवेन्द्र प्रताप मिश्र, जिला विकास अधिकारी योगेन्द्र पाठक, नगर मजिस्ट्रेट अरूण कुमार सिंह, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0सी0एम0 चतुर्वेदी, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 अश्वनी कुमार, परियोजना निदेशक अनिल कुमार, जिला समाज कल्याण अधिकारी के0पी0सिंह सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!