कोरोना संकट के बीच लंबे समय से बंद दिल्ली मेट्रो 7 सितंबर से होगा आरंभ

कोरोना संकट के बीच लंबे समय से बंद दिल्ली मेट्रो 7 सितंबर से शुरू हो रही है । केंद्र सरकार ने शर्तों के साथ मेट्रो चलाने को मंजूरी दे दी है । इससे दिल्लीवासियों को एक राहत मिलेगी, हालांकि इसमें भी यात्रा करने के कई नियम लागू होंगे ।

यात्रियों को मेट्रो में सफर के दौरान किन खास बातों का ध्यान रखना होगा, दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने ‘आजतक’ से बातचीत में इसकी जानकारी दी । उन्होंने बताया कि स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (SOP) तैयार है । तमाम प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए मेट्रो का परिचालन होगा ताकि यात्रियों को कोई दिक्कत न हो ।

परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने बताया कि मेट्रो स्टेशन के बाहर, एंट्री से पहले सैनिटाइजर की व्यवस्था होगी और यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी । टोकन के इस्तेमाल पर रोक लगाई जा रही है, क्योंकि इससे वायरस के फैलने का खतरा ज्यादा है । मेट्रो कार्ड इस्तेमाल करने वाले यात्रियों को ही सफर की इजाजत होगी ।

कैलाश गहलोत ने कहा कि मेट्रो कार्ड रिचार्ज करने के लिए डिजिटल माध्यम का उपयोग करना होगा । हालांकि काउंटर पर स्मार्ट कार्ड या मेट्रो कार्ड खरीदे जा सकेंगे । मेट्रो कोच के अंदर एक मीटर की दूरी पर बैठना अनिवार्य होगा । साथ ही मेट्रो कोच के भीतर एयर कंडीशन कंट्रोल किया जाएगा । नई गाइडलाइन्स के तहत एसी में ताजी हवा की मात्रा ज्यादा होगी।

मंत्री ने बताया कि मेट्रो स्टेशन, प्लेटफॉर्म और मेट्रो कोच के अंदर भीड़ न हो, इसलिए मेट्रो स्टाफ, पुलिस और सिविल डिफेंस वॉलंटियर्स की तैनाती होगी । मेट्रो में एंट्री के समय सोशल डिस्टेंसिंग का पालन और मास्क पहनना अनिवार्य होगा, ऐसा न करने पर मेट्रो अधिकारियों या पुलिस को फाइन लगाने का अधिकार होगा।

कैलाश गहलोत ने कहा कि थर्मल स्क्रीनिंग के दौरान यात्री का तापमान अधिक पाए जाने पर, दिल्ली मेट्रो में सफ़र करने की अनुमति नहीं मिलेगी। वहीं कंटेनमेंट जोन में मेट्रो स्टेशन नहीं खोले जाएंगे और न ही बंद स्टेशन पर मेट्रो रुकेगी ।

परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने बताया कि दिल्ली में कौन से मेट्रो स्टेशन 7 सितंबर से खुलेंगे और कौन से मेट्रो स्टेशन बंद रहेंगे ।इसकी लिस्ट तैयार की जा रही है। ये लिस्ट पब्लिक के लिए जारी की जाएगी। मेट्रो स्टेशन पर इंतज़ाम का भी लगातार मुआयना किया जा रहा है ।

कैलाश गहलोत ने कहा कि मेट्रो में सफर के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना बेहद जरूरी होगा । मेट्रो कोच में एक मीटर की दूरी पर ही यात्री सफर कर पाएंगे और किस सीट पर बैठना है और किस सीट पर नहीं, इसके लिए बकायदा मार्किंग भी की जाएगी ।

बता दें कि दिल्ली मेट्रो के सबसे ज्यादा भीड़ वाले स्टेशनों पर यात्रियों को कंट्रोल करना सरकार के लिए एक चुनौती होगी ।परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत के मुताबिक सरकार के पास सबसे अधिक भीड़ वाले मेट्रो स्टेशन की जानकारी मौजूद है । ऐसे में स्टेशन पर सिविल वॉलंटियर्स की मदद से भीड़ को कंट्रोल किया जाएगा ।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!