62 वर्ष उम्र पार आंगनबाड़ी होंगी पदमुक्त, विरोध में उतरा संगठन

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । बाल विकास पुष्टाहार विभाग में आँगनबाड़ी के पद पर कार्यरत कार्यकर्ती 62वर्ष की उम्र में पदमुक्त होंगी। शासन की ओर से जारी आदेश के बाद ब्लॉकवार ऐसी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की सूची तैयार की जा रही है। जल्द ही सूची शासन को भेजी जाएगी।

जिले में लगभग 2089 आंगनबाड़ी कार्यकर्ता/सहायिका हैं, जो गर्भवती महिलाओं की देखभाल, छोटे बच्चों के पठन-पाठन समेत सरकार की सभी प्राथमिकता वाले कार्यक्रमों में बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रही हैं। बढ़ते कार्य के दबाव व आधुनिकता के दौर में आंगनबाड़ी कार्यकर्तिओं के उम्र का निर्धारण शासन स्तर से भी किया गया है। विशेष सचिव गरिमा यादव ने 62वर्ष की उम्र पार कर चुकी आंगनबाड़ी कार्यकर्तीओं को पदमुक्त कर मानदेय समाप्त करने का आदेश जारी किया है। आदेश में किसी प्रकार की आर्थिक सहायता न दिए जाने का भी उल्लेख किया गया है।

फ़ाइल फोटो

डीपीओ अजीत सिंह ने बताया कि “विशेष सचिव के आदेश के क्रम में 62वर्ष आयु पूरा कर चुकी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की सूची तैयार कराई जा रही है। जल्द ही इन लोगों को नोटिस भी जारी किया जाएगा। जिले में लगभग 300 ऐसी कार्यकार्तियाँ हैं जो 62वर्ष की आयु पूर्ण कर चुकी हैं।”

विरोध में उतरा आँगनबाड़ी संगठन

विशेष सचिव के 62 वर्ष की अर्हता निर्धारण करने के आदेश को लेकर आंगनबाड़ी संघ ने कड़ा ऐतराज जताया है। आँगनबाड़ी संघ ने कहा कि हम सीएम योगी से इस आदेश को वापस लेने की माँग करेंगे। यदि सरकार हमारी माँगों को नहीं मानती है तो हम न्याय के लिए उच्च न्यायालय की शरण लेंगे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!