सर्विलांस टीम के माध्यम से डोर-टू-डोर वितरित कराई जाये क्लोरिन की गोलियां- नोडल अधिकारी

दीनदयाल शास्त्री (ब्यूरो)

पीलीभीत । जनपद में कोविड-19 के नियंत्रण एवं संचारी रोग नियन्त्रण, स्वच्छता अभियान/पेयजल आदि की व्यवस्था को लेकर की जा रही कार्रवाई की समीक्षा बैठक अपर मुख्य सचिव, श्रम एवं सेवायोजन विभाग, उत्तर प्रदेश शासन सुरेश चन्द्रा की अध्यक्षता में गांधी सभागार कलेक्ट्रेट में सम्पन्न हुई । बैठक के दौरान नोडल अधिकारी द्वारा जनपद में कोविड-19 नियंत्रण की तैयारियों के सम्बन्ध में समीक्षा के दौरान मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा अवगत करया गया कि सर्विलांस टीमों के दौरान समस्त ग्राम पंचायत व नगर पंचायतों में डोर टू डोर सर्वे कराने के उपरान्त जुखाम, बुखार के लक्षण पाये गये लोगों की जांच करा ली गई है। बैठक में जिलाधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य द्वारा प्राप्त निर्देशों के क्रम में जनपद में एल टू फैसिलिटी हाॅस्पिटल की व्यवस्था सीएचसी जहानाबाद में कराई जा रही है। समीक्षा बैठक के दौरान नोडल अधिकारी द्वारा जनपद में कोरोना वायरस से बचाव हेतु लोगों को नियमित मास्क लगाने हेतु जागरूक करने के साथ साथ बिना मास्क के घूमते पाए जाने पर जुर्माना लगाने हेतु निर्देशित किया गया। साथ ही साथ पुलिस अधीक्षक को निर्देशित किया गया कि कन्टेनमेंट जोन ऐरिया में कोविड प्रोटोकाल का पूर्णतया अनुपालन कराना सुनिश्चित किया जाये।

बैठक के उपरान्त नोडल अधिकारी द्वारा कोविड-19, एल-1 समर्पित ललित हरि राजकीय आयुर्वेदिक महाविद्यालय का आपात कालीन स्थिति से निपटने के लिए बनाये गये कोविड अस्पताल में मानक के अनुसार व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान नोडल अधिकारी द्वारा अस्पताल की नियमित साफ सफाई कराने हेतु निर्देशित करते हुये कहा कि अस्पताल में आवश्यक बाथरूम, शौचालय, विद्युत व्यवस्था की पूर्ति, पेयजल व्यवस्था, मानक के अनुरूप व्यवस्थायें ठीक ठाक पाई गई।
नोडल अधिकारी द्वारा जनपद में संचारी रोग नियंत्रण एवं साफ सफाई व्यवस्था हेतु नामित नगरीय क्षेत्र के नोडल अधिकारी अपर जिलाधिकारी एवं ग्रामीण क्षेत्र के नोडल अधिकारी मुख्य विकास अधिकारी से साफ सफाई की व्यवस्था के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की गई, इस सम्बन्ध में मुख्य विकास अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि समस्त ग्राम पंचायतों में टीमों का गठन किया गया तथा न्याय पंचायत स्तर पर्यवेक्षण अधिकारी नामित नियमित साफ सफाई की व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है। नोडल अधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया कि नियमित साफ-सफाई का अभियान संचालित किया जाये औरी इसके साथ ही साथ सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि जनपद में सेनेटाइजिंग की व्यवस्था में और वृद्वि की जाये और अधिक से अधिक क्षेत्रों को सैनाटाइज कराया जाये। नोडल अधिकारी द्वारा जनपद में अन्त्योदय, पात्र गृहस्थी व आत्म निर्भर भारत योजना के अन्तर्गत प्रवासी मजदूरों को खाद्यान्न वितरण के बारे में जानकारी प्राप्त की गई। सर्विलांसटीम के माध्यम से डोर-टू-डोर क्लोरिन की गोलियां उपलब्ध सुनिश्चित किया जाये। नोडल अधिकारी द्वारा पेयजल व्यवस्था के सम्बन्ध में दिशा-निर्देश देते हुये कहा कि पानी की शुद्वता हेतु वितरित की जा रही क्लोरिन की गोलियों के सम्बन्ध में समीक्षा कर ली जाये कि समस्त ग्राम पंचायतों व नगर पंचायतों में गोलियों का वितरण कराना सुनिश्चित किया जाये। हैण्डमार्का पम्प के पानी की जांच करा ली जाये जिससे कि आम जनमानस को पीने योग्य पानी मिल सके।
इसके उपरान्त नोडल अधिकारी द्वारा नगर की साफ-सफाई व्यवस्था का निरीक्षण किया गया। इस दौरान उन्होंने जाटों वाला चैराहा का निरीक्षण करते हुये वहां के स्थानीय लोगों से भी साफ-सफाई की व्यवस्था के बारे में पूछताछ की गई। इस दौरान स्थानीय लोगों संतोषजनक जबाव देते हुये कहा क्षेत्र के साफ सफाई कर्मियों द्वारा नियमित साफ-सफाई की कराई जा रही और शाम को नगर पालिका द्वारा फोगिंग भी नियमित कराई जा रही है।
बैठक में जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव, पुलिस अधीक्षक जय प्रकाश, मुख्य विकास अधिकारी श्रीनिवस मिश्र, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 सीमा अग्रवाल, अपर जिलाधिकारी (वि./रा.) अतुल सिंह, अपर जिलाधिकारी (न्यायिक) देवेन्द्र प्रताप मिश्र, जिला विकास अधिकारी योगेन्द्र पाठक, नगर मजिस्ट्रेट, परियोजना निदेशक अनिल कुमार, अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी सहित अन्य अधिकारीगण व स्वास्थ्य विभाग अधिकारी/चिकित्सक उपस्थित रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!