मूर्ति खंडित करने से हिंदू संगठन व सनातन प्रेमियों ने सांकेतिक प्रार्थना कर , दोषियों के खिलाफ कार्यवाही व मूर्ति के पुनर्स्थापना की किया मांग

घनश्याम पांडे/विनीत शर्मा (संवाददाता)

चोपन। प्राचीन विजयगढ़ दुर्ग पर स्थित हनुमान मंदिर में तोड़फोड़ व मूर्ति खंडित करने से आक्रोशित हिंदू संगठनों व सनातन प्रेमियों ने सोमवार को चोपन वैरियर स्तिथ सोनेश्वर महादेव मंदिर पर सांकेतिक प्रार्थना कर दोषियों के खिलाफ कार्यवाही व खंडित मूर्ति के पुनर्स्थापना की मांग की । प्रार्थना सभा का नेतृत्व कर रहे गुप्तकाशी सेवा ट्रस्ट के कार्यकारी अध्यक्ष राजेश अग्रहरी ने कहा की प्राचीन समय में जनपद का गौरवशाली और रहस्यमई विजयगढ़ दुर्ग जिसे देश और दुनिया चंद्रकांता धारावाहिक के रूप में जान चुका है जहां हजारों फीट की ऊंचाई पर आज भी राम सरोवर की गहराई रहस्य बना हुआ है जहां से प्रत्येक वर्ष हजारों की संख्या में कांवरिया पवित्र जल लेकर बोल बम एवं डाक बम के रूप में गुप्तकाशी के विभिन्न देवालयो तथा शिवद्वार में जलाभिषेक करते हैं उसी के तट पर प्राचीन हनुमान जी के मंदिर में पवित्र श्रावण मास में विगत 8 जुलाई को प्रशासन द्वारा अतिक्रमण हटाने के नाम पर तोड़फोड़ कर मूर्ति को विखंडित कर दिया गया जिसका हिंदू समाज पुरजोर विरोध और भर्त्सना करता है तथा जनपद के हिंदू समाज और संगठनों में आक्रोश व्याप्त है । जनपद के अति प्राचीन विजयगढ़ दुर्ग पर हो रहे अतिक्रमण और कुकृत्य को दूर करने के लिए प्रख्यात धर्म एवं प्रकृति प्रेमी रवि प्रकाश चौबे ने गुप्तकाशी सेवा ट्रस्ट की स्थापना की जिन्होंने सर्वप्रथम विगत 10 जुलाई को ही सोशल मीडिया के माध्यम से इस घटना का विरोध दर्ज कराया था जिसके फलस्वरूप अब जनपद का हर हिंदू समाज इस घटना के विरोध में आक्रोशित और मर्माहत है जिस कारण आज प्रभु श्री राम जी से संकेतिक प्रार्थना कर हनुमान जी के लिए न्याय की मांग शासन प्रशासन एवं प्रदेश सरकार से किया गया । प्रार्थना सभा के अवसर पर मंदिर के महंत डॉ मंजू मोहन पांडे जी , वरिष्ठ अधिवक्ता निखिल तिवारी, सुभाष साहनी ,कमलेश यादव , मनोज स्वामी , विजय साहनी मनीष पांडे त्रिलोकी निषाद सहित हिंदू प्रेमी उपस्थित रहे ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!