सभी रोगों की एक दवाई, घर में रखें साफ सफाई

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की महत्वाकांक्षी योजनाओं में से एक विशेष संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान का उद्घाटन आज प्रातः11:00 बजे कार्यालय मुख्य चिकित्सा अधिकारी परिसर से सदर विधायक सदर भूपेश चौबे एवं जिलाध्यक्ष अजीत चौबे ने हरी झंडी दिखाकर रैली को रवाना किया। रैली के बाद सीएमओ ने सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को संचारी रोगों से बचाव के उपायों का प्रसार करने और संचारी रोग ग्रस्त व्यक्ति को प्राथमिकता पर उपचार करने के लिए शपथ दिलाई।

इस अभियान में आज से 31 जुलाई तक पूरे एक माह तक माइकोप्लान बनाकर जनपद के सभी महत्वपूर्ण विभागों जैसे पंचायत राज विभाग, शिक्षा विभाग, बाल विकास एवं पुष्टाहार, कृषि विभाग, पशुपालन, समाज कल्याण, दिव्यांग विभाग, नगर पालिका, नगर पंचायत, स्वच्छ भारत मिशन शामिल है। संचारी रोग से प्रत्येक वर्ष हजारों लोग बीमार होते है। संचारी रोग ऐसे रोगों को कहा जाता है जो किसी माध्यम के द्वारा एक बीमार व्यक्ति से किसी स्वस्थ्य व्यक्ति तक पहुँचते है। जैसे मलेरिया, डेंगू, टी0बी0, कुष्ठ , डायरिया , कोरोना इत्यादि। ये बीमारियों स्वछता सम्बधी सामान्य आदतो को अपनाकर दूर की जा सकती है। इस अभियान में ग्रामीण क्षेत्रों में स्वछता सम्बन्धी उपायो के लिए ग्रामीण विकास विभाग एवं पंचायती राज विभाग को उत्तरदायी ठहराया गया है। वहीं दूसरी ओर नगरीय क्षेत्रों के लिए नगर पालिका एवं नगर पंचायत की भूमिका महत्त्वपूर्ण है। ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्रों में नालियों की सफाई, झाड़ियों की कटाई, फागिंग एवं एन्टीलाल का छिड़काव, शुद्ध पेयजल की व्यवस्था के लिए हैण्डपम्प का चिन्हिकरण, हैण्डपम्प के प्लेटफार्म की मरम्मत, इण्डिया मार्का हैण्डपम्प की व्यवस्था करना इत्यादि कार्य शामिल है। जिला कृषि रक्षा अधिकारी के द्वारा इस अभियान में खेतों में रोडेन्ट को नष्ट करना, इनटरप्टेड इरीगेशन इत्यादि कार्य कराया जाना है। शिक्षा विभाग के द्वारा नोडल अध्यापक की नियुक्ति कर समस्त विधार्थियो को संचारी रोग के बारे में जागरूक करना एवं प्रतिदिन प्रार्थना सभा में बच्चों को हाथ की साफ-सफाई , कोरोना , मलेरिया एवं अन्य संचारी रोगों से बचाव की जानकारी देना । खण्ड विकास अधिकारी को समस्त ब्लॉको में तथा ग्राम प्रधान को अपने-अपने ग्राम का नोडल बनाया गया है । इसी कम में आयुष्मान भारत के 3 लाभार्थियों में गोल्डेन कार्ड का वितरण भी किया गया। इस अभियान हेतु जनपद में चिकित्सा विभाग को नोडल विभाग बनाया गया है । जिनको समस्त कार्यक्रमों की ससमय रिपोर्टिंग का दायित्व दिया गया है। इस हेतु जनपद के समस्त 8 ब्लॉकों में अलग-अलग अधिकारियों की नियुक्ति की गयी है । जिनके द्वारा समस्त कार्यों का निरीक्षण किया जायेगा। इसके अतिरिक्त डब्लू0एच0ओ0 एवं आई 0डी0एस0पी0, यूनिसेफ के द्वारा इन कार्यकमों की मानीटरिंग की जायेगी।

उद्घाटन के अवसर पर अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ0 बी0के0अग्रवाल, उप मुख्य चिकित्साधिकारी प्रेमनाथ, चिकित्साधिकारी, जिला मलेरिया अधिकारी डी0के0श्रीवास्तव, वी0बी0डी0 कन्सल्टेन्ट शुभम सिंह, मलेरिया निरीक्षक आनन्द मिश्रा, देवाशीष पांडेय, आयुष्मान भारत से डॉ0 स्नेहा मंजुल, जितेंद्र कुशवाहा, आई0सी0एस0पी0, आशा, ए0एन0एम0, ओंगनबाडी एवं कार्यालय के समस्त अन्य कर्मचारी तथा जनसामान्य उपस्थित रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!