बेमौसम बारिश,तेज हवा से गेहूं खराब

विनोद कुमार (संवाददाता)

– किसानों की नींद गायब,किसी तरह गेहूं की कटाई हो प्रयास में लगे किसान

शहाबगंज। किसानों का संकट खत्म होने के जाय लगातार बढ़ रहा है सरकारी सिस्टम और प्रकृति दोनों का कहर किसानों पर जारी है।धान की फसल को मौसम की मार तो झेलनी ही पड़ी सरकारी सिस्टम से भी किसानों को खूब लड़ना पड़ा।धान कटाई के समय पराली न जलाने का सरकारी फरमान किसानों के लिए मुसीबत बना था।जिसके कारण धान की कटाई समय से न हो सका और बारिश ने धान की फसल को चौपट कर दिया ।किसी तरह धान खेती में आये घाटे से गेहूं की अच्छी फसल देख किसानों की थोड़ी मुश्किल कम हुई थी कि कटाई के पिक आवर में फिर मौसम ने दगा दे दिया।इस बार भी किसानों के लिए मुश्किल बना लॉकडाउन का सरकारी फरमान।जिसके कारण धान की कटाई के लिए हार्वेस्टर नहीं मिल पा रहा है।और न ही मजदूर ही पर्याप्त मात्रा में किसानों को मिल रहे हैं।जिसके कारण एक बार फिर किसान मुश्किलों से घिर गया है।क्षेत्र में पिछले दो दिनों से छिटपुट हो रही बारिश और तेज हवा ने किसानों की चिंता की लकीरें बढ़ा दी है।बेमौसम हो रही बारिश और तेज हवा ने किसानों की कमर ही तोड़ कर रख दी है।शनिवार से हो रही छिटपुट बारिश ने जनपद के कई क्षेत्रों में फसलों को एक बार फिर भारी नुकसान पहुंचाया है।बारिश और तेज हवा से खेतों में पकी खड़ी फसल जहां लटक गई है वहीं खेतों में कट कर रखी फसल भी पानी में भीगने से खराब हो जाएगी।वैसे देखा जाय तो इस साल लगातार बेमौसम बारिश किसानों का पीछा ही नहीं छोड़ रही है कभी भी बारिश हो रही है और इससे फसलों को खासा नुकसान पहुंच रहा है।जिस तरह मौसम अभी है आगे भी यही मौसम रहा तो किसानों के लिए आफत तय है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!