सोशल डिस्टेंसिंग-हम तो भाई जैसे हैं वैसे रहेंगे

फ़ैयाज़ खान मिस्बाही (ब्यूरो)

ग़ाज़ीपुर । चाहे आप जो करिए … कुछ लोग ऐसे होते हैं कि उनको लगता है कि देश का कोई कानून उन से ऊपर नही है, वही क़ानून मानेंगें जिसको वो ठीक समझे। चाहे उस क़ानून से खुद उनका ही फायदा क्यों न होता हो।चाहे वह लोकडाउन हो या सोशल डिस्टेंसिंग हो, सरकार पर एहसान के तौर पर तो कुछ दिन इस पर अमल कर लिये, मगर एहसान कितनी देर करेंगे, बस यही बात दिमाग़ में आ गयी और एहसान करना बन्द कर दिये।नवीन कृषि मंडी समिति मे रविवार के दिन बाजार लगने से सोशल डिस्टेंडिंग का खुलेआम उल्लंघन देखने को मिला। बड़ी तादात मे मौजूद लोग बिना माक्स व गमछे के दिखे। अधिक संख्या मे भीड़ को बढ़ता देख स्थानीय पुलिस व अधिशासी अधिकारी ने लोगो को एक दूसरे से दुरी बनाकर रखने सहित मुँह पर माक्स गमछा या रुमाल लगाकर बाजार मे आने की हिदायत दिए व आगाह किया कि इसका उलंघन करने वालो पर करवाई की जाएगी। तब जाकर भीड़ कम हुई। मालूम हो की जंगीपुर नवीन कृषि उत्पादन मंडी समिति मे हफ्ते के गुरुवार व रविवार के दिन बाजार लगता है ऐसे मे कई दिनों से चल रहे लक डाउन के बाद आज मंडी मे हजारों की संख्या मे खरीदारी करने वालो का भीड़ इकठ्ठा हो गया। मंडी मे आने वाले कुछ ही किसान व्यपारी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुवे दिखाई दिये।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!