स्थानीय हाटों एवं मत्स्य बाजार में मत्स्य विक्रय कार्य का पूर्व की भॉति रहेगा जारी : डीएम

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । शासनादेशानुसार कोविड-19 कोरोना वायरस आपदा के दृष्टिगत पशु पक्षी आहार सामग्री यथा पोल्ट्री, फिश आदि का परिवहन प्रतिबन्ध से मुक्त रखा जाय तथा उक्त सामग्री की दुकान एवं निर्माण इकाई आवश्यकता अनुसार संचालित किया जाय। मुख्य सचिव उ0प्र0 शासन के निर्देश के क्रम में कोविड-19 कोरोना वायरस के कारण लाकडाउन की अवधि में आवश्यक सेवाओं के आपूर्ति के लिए खाद्य सामग्री, मछली के उत्पादन, परिवहन, वितरण आदि में छूट प्रदान किया गया है।
जिलाधिकारी ने आदेशित किया है कि स्थानीय हाटों एवं मत्स्य बाजार में मत्स्य विक्रय कार्य का पूर्व की भॉति जारी रहेगा। प्रतिबन्धित मछली थाई मांगुर एवं ब्रिगहेड के विक्रय एवं उत्पादन पर प्रतिबन्ध रहेगा। मत्स्य बीज के उत्पादन, परिवहन एवं वितरण में छूट दी जायेगी। फिश फीड मत्स्य पालकों द्वारा मत्स्य आखेट का कार्य पूर्व की भॉति किया जायेगा। फिश फीड (मत्स्य आहार) का परिवहन प्रतिबन्ध से मुक्त रखा जायेगा। यदि मत्स्य पालकों/मत्स्य व्यवसाइयों व मजदूरों द्वारा सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन एवं मास्क का उपयोग करते हुए अपने गांव/क्षेत्र/हाट/बाजार/नगर क्षेत्र में मत्स्य आखेट एवं बिक्री की जा रही है, तो उनको किसी प्रकार के पास/अनुमति की बाध्यता नहीं रहेगी। जनपद के वृहद, मध्यम व लघु जलाशयों से उत्पादित मत्स्य सम्पदा की बिक्री व परिवहन जारी रहेंगे।

जिलाधिकारी के आदेशानुसार सोनभद्र में मत्स्य पालन एवं मत्स्य आखेट से सम्बन्धित उपरोक्त कार्य लाकडाउन प्रतिबन्धों से मुक्त रहेंगे। कार्यों के दौरान कोविड-19 महामारी के संक्रमण के बचाव के लिए उक्त अवधि में सोशल डिस्टेन्सिंग के निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित किया जायेगा। प्रत्येक व्यक्ति के मध्य कम से कम एक मीटर की दूरी सुनिश्चित की जाय। अनावश्यक भीड़ एकत्रित होने पर भारतीय दण्ड विधान की सुसंगत धाराओं के अन्तर्गत कठोर कार्यवाही की जायेगी।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!