शेल्टर होम में भोजन व सफाई व्यवस्था शासकीय अधिकारियों के पर्यवेक्षण में की जाये सुनिश्चित-जिलाधिकारी

दीनदयाल शास्त्री ब्यूरो

पीलीभीत । मुख्य सचिव, उत्तर प्रदेश शासन, लखनऊ के पत्र संख्या 259/पी0एस0एम0एस/2020 दिनांक 12 अप्रैल, 2020 के द्वारा कोविड-19 के नियंत्रण एवं रोकथाम के लिये उच्च स्तरीय समीक्षा के क्रम में निम्न बिन्दुओं पर तत्काल कार्यवाही किये जाने के निर्देश दिये गये है।
उक्त पत्र के क्रम जिलाधिकारी के पत्र संख्या 2339, दिनांक 14 अप्रैल 2020 के आदेश के क्रम में भारत सरकार द्वारा तैयार किये गये ‘‘आरोग्य सेतु ऐप’’ को सभी सरकारी अधिकारियों/कर्मचारियों एवं जन-सामान्य को डाउनलोड कराया जाए।
यह रोग से स्वयं तथा अन्य लोगों को भी बचाने में अत्यन्त सहायक है। यह ऐप सभी व्यक्तियों द्वारा डाउनलोड किया जाये। सरकारी एवं निजी दोनों ही चिकित्सालयों में आपात चिकित्सा सुविधा 24X7 उपलब्ध हो।
इस हेतु स्वास्थ्य विभाग द्वारा निर्गत प्रोटोकाॅल के अनुसार चिकित्सकों एवं पैरा मेडिकल स्टाफ की भी सुरक्षा समुचित व्यवस्था की जाए तथा निर्धारित प्रोटोकाॅल का पालन किया जाए। अन्य सामान्य रोगियों (जो पूर्व में ओ0पी0डी0 में आते थे) के इलाज हेतु टेलीमेडिसन/टेलीफोन के माध्यम से चिकित्सकीय परामर्श लेने की व्यवस्था की जाए। इस हेतु चिकित्सको के टेलीफोन नम्बर व उनके द्वारा परामर्श हेतु निर्धारित समय की जानकारी जन-सामान्य को उपलब्ध कराई जाए एवं टेलीफोन नम्बरों की सूची तैयार करा ली जाए। यदि किसी मरीज के रक्त आदि की जांच की आवश्यक हो, तो सैम्पल के होम कलेक्शन की व्यवस्था भी करा ली जाए। कोविड अस्तपतालों में आॅक्सीजन, आवश्यक दवाओं एवं आवश्यक सुरक्षा सामग्रियों को पूर्ण उपलब्धता सुनिश्चित की जाय।
आगामी कुछ दिनों मे कई त्योहार आदि पड़ रहे हैं, इस अवसर पर यह सुनिश्चित किया जाए कि कहीं कोई भीड़ न हो और नही कोई जुलूस आदि निकले तथा लाॅकडाउन का पूर्णतः पालन किया जाये।
इस सम्बन्ध में सम्बन्धित धर्मगुरूओं/सामाजिक नेताओं से अपील का अनुरोध किया जाए कि लोग अपने घरों के अन्दर ही त्यौहार मनायेंगे। शेल्टर होम में भोजन एवं सफाई की व्यवस्था शासकीय अधिकारियों के पर्यवेक्षण में सुनिश्चित की जाए। संस्थागत क्वारंटाइन की 14 दिन की अवधि पूर्ण करने के उपरान्त आवश्यक चिकित्सकीय जांच के उपरान्त निगेटिव पाये गये व्यक्तियों को 14 दिन की अवधि के लिय होम क्वारंटाइन में भेज दिया जाए तथा उसे आवश्यक खाद्यान भी उपलब्ध कराया जाए। होम क्वारंटाइन में रखे व्यक्तियों से निरन्तर टेलीफोन से सम्पर्क कर यह सुनिश्चित कर लिया जाए कि उन्हें कोई परेशानी तो नहीं है।
अन्य जनपदों से जनपद में अथवा जनपद से बाहर लोगों का आवागमन न होने दिया जाय। मजिस्ट्रेट व पुलिस अधिकारी संयुक्त रूप से निरन्तर पेट्रोलिंग कर लाॅक-डाउन का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित करायें। दिनांक 15 अप्रैल 2020 से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर क्रय केन्द्रों का भी संचालन व राशन वितरण प्रारम्भ हो गया है। इन स्थानों पर सोशल डिस्टेंसिंग को पूरी तरह सुनिश्चित किया जाए तथा सेनेटाईजर तथा साबुन से हाथ धोने की भी व्यवस्था की जाए। इन स्थानों में भीड़ से बचने हेतु टोकन व्यवस्था भी लागू की जा सकती है। यह सुनिश्चित किया जाए कि किसानों को अपने उत्पाद न्यूनतम समर्थन मूल्य से कम पर न बेचना पडे़ तथा कोई भी व्यापारी अथवा कम्पनी निर्धारित गुणवत्ता का उत्पाद न्यूनतम समर्थन मूल्य से कम दाम पर क्रय न करें। भोजन वितरण की व्यवस्था हेतु विश्वसनीय एवं प्रमाणित लोगों द्वारा ही भोजन वितरण किया जाना सुनिश्चित किया जाए। भोजन वितरण में स्वच्छता तथा खाद्य सुरक्षा व सामाजिक दूरी बनाये रखने का पूरा ध्यान रखा जाए।
यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू होगा। उपरोक्त निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित किया जाए।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!