ओबरा महाविद्यालय में हुआ ई-परामर्श प्रकोष्ठ का हुआ गठन

कृपाशंकर पाण्डेय( संवाददाता )

ओबरा। कोरोना वायरस जनित वैश्विक महामारी से निपटने के लिए घोषित लॉक डाउन से घर बैठे छात्र- छात्राओं का तनाव व दबाव दूर करने के लिए राजकीय स्नाकोत्तर महाविद्यालय ओबरा ने ई-परामर्श प्रकोष्ठ का गठन किया है उक्त आशय की जानकारी देते हुए महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ प्रमोद कुमार ने बताया कि शिक्षा निदेशक उच्च शिक्षा प्रयागराज डॉ वंदना शर्मा के निर्देश पर छात्र छात्राओं को लॉक डाउन से उत्पन्न मनोवैज्ञानिक तनाव तथा पठन-पाठन से सम्बन्धित होने वाली दिक्कतों से यह प्रकोष्ठ परामर्श के द्वारा निजात दिलाएगा। प्राचार्य डॉ प्रमोद कुमार ने कहां की महाविद्यालय में 3129 छात्र-छात्राएं अध्ययनरत है।अकसर युवा पीढ़ी फेक न्यूज़ का शिकार होकर मानसिक एवं शारीरिक समस्याओं से ग्रसित हो जाती हैं इन समस्त समस्याओं के निदान के लिए महाविद्यालय स्तर पर ई- परामर्श प्रकोष्ठ का गठन किया गया है।जिसमें डॉ किशोर कुमार सिंह एसोसिएट प्रोफेसर रसायन विज्ञान को प्रकोष्ठ का संयोजक बनाया गया है।जबकि सदस्य के रूप में डॉ सुनील कुमार,डॉ विकास कुमार,डॉ अमूल्य कुमार सिंह,डॉ विभा पाण्डेय,श्री प्रमोद कुमार केशरी सहित महाविद्यालय के समस्त प्राध्यापक व कर्मचारी होंगे।जो छात्र छात्राओं से प्राप्त समस्याओं का विशेषज्ञों से त्वरित निदान प्राप्त कर संबंधित छात्र छात्राओं को फेसबुक,व्हाट्सएप ग्रुप, वीडियो कॉलिंग आदि माध्यमों से सूचित करेंगे। साथ ही प्राचार्य डॉ प्रमोद कुमार ने सभी छात्र छात्राओं से अपील की है किया है कि वह अपने मोबाइल में आरोग्य सेतु एप अवश्य डाउनलोड कर जिससे वह कोरोना वायरस से संबंधित खतरे से सतर्क रह सकें।खुद सुरक्षित रहे व दुसरो को भी सुरक्षित रखें।साथ ही अपने आस पास के लोगो को भी इस एप को डाउन लोड कराए।लॉक डाउन के दौरान घर से बाहर ना निकले,अपने मुंह को ढक करके निकलें,शासन प्रशासन द्वारा जारी दिशा निर्देशों का पालन करें।साकारात्मक सोचें व साकारात्मक करें।साथ ही ऑनलाइन माध्यम से अपनी पढ़ाई जारी रखें।महाविद्यालय की वेबसाइट www.gpgcobra.net पर ई कंटेंट में सभी विषयों की पाठ्य सामग्री उपलब्ध हैं।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!